tranny with big boobs fellating a hard cock.helpful site https://dirtyhunter.tube
Browsing Category

स्पेशल रिपोर्ट

कोविड- 19 और महाराष्ट्र में दूसरी लहर का प्रभाव

( तेजेंद्र कुमार मीणा ) भारत में और विशेष रूप से महाराष्ट्र में कोविड -19 की पहली लहर की तुलना में दूसरी लहर घातक प्रतीत होती दिख रही है। यह कोरोना वायरस की दूसरी लहर है जिससे भारत सामना कर रहा है, और इसका भयावह प्रभाव आर्थिक

अस्पतालों ने ठुकराया लेकिन परिजनों की सेवा ने बचा लिया भैरू लाल को !

( डॉ गोविन्द मेघवंशी )आईये चलते हैं राजस्थान के भीलवाड़ा जिले के कांदा ग्राम में ,जहाँ अपने पिता को बचाने के लिए उनके बेटे राजेन्द्र मेघवंशी और दामाद रामस्वरूप मेघवंशी, पत्नी सीता देवी, अंकल रामप्रसाद मेघवंशी ने अपनी जान की परवाह किये

धार्मिक रुढ़िवाद से मुक्त होता रेगर समाज

( हेमंत कुमार )पांचुलाल जी तंवर (जाटोलिया) निवासी मेगड़दा ( हाल निवास- जयपुर) का निधन 28 अप्रैल को हो गया था,उनके निधन के बाद इनके पुत्र चिरंजीलाल जाटोलिया द्वारा समाज सुधार की दिशा में महत्वपूर्ण प्रयास किये गये जो बाह्राणवादी तथा संर्कीण

कोविड 19 : डॉक्टरों की भूमिका, सीमाएं और प्रोटोकॉल के कुछ सवाल

-प्रमोद रंजनजैसी कि उम्मीद थी, एक बार फिर से कोविड के नये मामले बढ़ने की ख़बरें आ रही हैं। भारत में हाहाकार मचा हुआ है। ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं होने के कारण बड़ी संख्या में लोग मर रहे हैं। मौतों का एक बड़ा कारण गलत उपचार भी है, जिसे एक

यह दीवाली इस तरह मनी !

( भंवर मेघवंशी ) राजस्थान के भीलवाड़ा ज़िले की माण्डल पंचायत समिति की सीडियास ग्राम पंचायत के गाँव गणेशपुरा के पाँच अनाथ बच्चों की दर्दनाक हक़ीक़त वरिष्ठ पत्रकार आनंद चौधरी जी की कलम के ज़रिये हम सबके सामने उजागर हुई.पढ़कर स्तब्ध रह

जालोर पुलिस ने त्वरित कार्यवाही करते हुये सभी आरोपी किये गिरफ्तार !

( भंवर मेघवंशी )दलित बच्चों को बंधक बनाकर मारपीट करने के मामले में जालोर पुलिस व एडवोकेट कमल भट्ट की तत्परता से सभी आरोपी गिरफ्तार सांचौर में दो दलित बच्चे प्रवीण व देवा रैगर जटिया को बंधक बनाकर मारपीट के मामले में आरोपियों

कोइतूरों के रावेन और हिंदुओं के रावण में अंतर है !

( डॉ सूर्या बाली “सूरज धुर्वे”)किसी भी संस्कृति में उसके नायकों और प्रतीकों का सम्मान और स्वागत उस संस्कृति को संरक्षित और संवर्धित करने के लिए आवश्यक होता है। इन्ही नायकों को जीवित रखने के लिए तरह तरह के आयोजन, पर्व और तीज त्योहारों का

सिक्किम में बनेगा बौद्ध विश्वविध्यालय

( संजय सावंत  )  डेढ़ हज़ार वर्ष पूर्व भारत में देवालयों या तीर्थक्षेत्रों की बनिस्बत शिक्षा संस्कृति को ही अधिक महत्व दिया जाता रहा है। इसलिए विक्रमशिला विश्वविद्यालय (मगध-बिहार ) नालंदा विश्वविद्यालय (बिहार), तक्षशिला विश्वविद्यालय
yenisekshikayesi.com