tranny with big boobs fellating a hard cock.helpful site https://dirtyhunter.tube

आरटीआई कार्यकर्ता पर हमला,जबरदस्त रोष, मुख्यमंत्री के नाम खुला पत्र लिख कर आक्रोश ज़ाहिर किया

81

बाड़मेर के आर.टी.आई. एक्टिविस्ट अमराराम गोदारा पर जानलेवा हमला अस्वीकार्य !

श्रीमान अशोक गहलोत
मुख्यमंत्री, राजस्थान सरकार
जयपुर
विषय : गिड़ा थाना, बाड़मेर के अमरा राम गोदारा के हमलावरों की तत्काल गिरफ़्तारी हो, जांच का स्थानांतरण एसपी के पास हो, सुरक्षा इलाज व मुआवजा तुरंत दिया जाए व राज्य स्तरीय जांच पंचायत के दस्तावेजों की जांच की जाए


महोदय,


जैसा की आपको विदित है कि 21 दिसंबर 2021 को आर.टी.आई. एक्टिविस्ट अमराराम गोदारा पुत्र कीरताराम निवासी चिमनियों की ढाणी, पंचायत- कुंपलिया, तहसील व थाना गिड़ा, जिला बाड़मेर को साजिश के  तौर पर 8 लोगों द्वारा सरियों से बुरी तरह मारपीट की, पैरों और हाथों की हड्डियां तोड़ी ओर पैरों में क़िले गाड़ दी ओर अमानवीय कृत्य जैसे पेशाब पिलाना, मोबाईल छीन लेना आदि भी किया गया.अभी अमरा राम जोधपुर के मथुरादास अस्पताल मे है, उन्हे बलोतरा राजकीय अस्पताल से रेफर किया है.


इस जानलेवा हमले की कड़े शब्दों मे निंदा करते है और उम्मीद करते हैं की आप इस घटना को गंभीरता से लेंगे, प्रदेश में बढ़ती हिंसा की संस्कृति, गुंडागर्दी व इस तरह की घटनाओं की पुनरावृति न हो . ज्ञात हो की यह बाड़मेर की तीसरी आरटीआई ऐक्टिविस्ट पर हमले की घटना है, उम्मीद करते हैं की इस बार न्याय होगा, दोषियों को सज़ा होगी न की पूर्व की तरह लीपापोती.


अमरा राम गोदारा को क्यों घायल किया? यह जानना बहुत जरूरी है: क्यों की इस हादसे के पूर्व का घटनाक्रम जो अमराराम खुद अपनी एफ आई आर मे लिखते है उससे स्पष्ट है कि अगर वह पंचायत मे हो रहे भ्रष्टाचार या शराब की गैर कानूनी बिक्री का मुद्दा नहीं उठाते और प्रशासनिक कार्यवाही नहीं होती तो शायद आज वह अस्पताल मे घायल अवस्था मे नहीं होते.


हमला से पहले घटनाक्रम

15 दिसम्बर 2021 को प्रशासन गाँव के संग ग्राम पंचायत कुंपलिया की ढाणी के नरेगा कार्यों के वित्तीय गड़बड़ी, घटिया क्वालिटी वाले कार्यों, अवैधानिक कार्यों, आवास योजनाओं मे अनियमितताओं तथा सम्पूर्ण गिड़ा थाना क्षेत्र मे शराब की अवैध बिक्री के संबंध मे शिकायत पेश की थी,जिस पर दिनांक 19.12.2021 को ग्राम पंचायत कुंपलियाँ मे डीएसटी टीम ने अवैध शराब माफियों को गिरफ्तार कर अवैध शराब बरामद की थी तथा ग्राम पंचायत मे गड़बड़ियों की भी जांच चल रही हैं, जिसके कारण अवैध शराब माफिया व ग्राम पंचायत कुंपलिया के वर्तमान व पूर्व सरपंच अमरा राम से नाराज हो गए


20 दिसंबर 2021 को अमरा राम गोदारा मानाराम पुत्र भोलाराम, निवासी चिमाणीयों की ढाणी ने मुझे व्हाट्सअप कॉल कर जान से मारने की धमकी भी दी  थी, पूर्व मे अमरा राम गोदारा ग्राम पंचायत कुंपलिया के राजकोष से करवाये गए कार्यों की जानकारी के लिये आरटीआई आवेदन लगर कर सूचनाएं चाही थी, लेकिन सरपंच नगराज ने अमरा राम के रिश्तेदारों से  दबाव बनाया व जान से मारने की धमकी दी कि वह आरटीआई नहीं लगायें वरना वह कातिलाना हमला करेंगे


हमारी मांगें


1.   गिड़ा थाना, बाड़मेर के अमरा राम गोदारा के हमलावरों की गिरफ़्तारी तत्काल हो
2.   अमरा राम गोदारा को कड़ी सुरक्षा दी जायें
3.   FIR स्थानीय गिड़ा थाने से एसपी के सनिध्य में स्थानांतरित हो और एसपी द्वारा जांच हो
4.   तत्काल चालान पेश हो और स्पीडी ट्रायल किया जाए
5.   अमरा राम गोदरा को पूर्ण रूप से सुरक्षा दी जाए क्योंकि वे प्रमुख साक्षी हैं
6.   25 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाए
7.   बेहतरीन इलाज के लिए देश और दुनिया के सर्वोतम डॉक्टर की ओर अस्पताल मे इलाज किया जाए
8.   साथ ही राज्य सरकार विशेष जाँच दल बनाकर ग्राम पंचायत के समस्त विकास कार्यो को जाँच करवाएं


ज्ञात हो की इस वर्ष का यह दूसरा आरटीआई एक्टिविस्ट पर हमला है, पहला झालावाड़ और दूसरा बाड़मेर और बाड़मेर जिले के आरटीआई एक्टिविस्ट पर यह तीसरा हमला है –

  • वर्ष 2011 में मंगलाराम नरेगा, आरटीआई व दलित ऐक्टिविस्ट, पंचायत बमनोर, धोरीमन्ना पर  सरपंच ग़ुलाम शाह ने सोशल ऑडिट के दरमियान सार्वजनिक तौर पर कातिलाना हमला करवाया था और FIR. 50/2011, 3.03.2011को धोरीमन्ना थाने में दर्ज हुई थी,पर जांच में लिपा पोती ही हुई और मामला रफा-दफा किया गया
  • वर्ष 2019 में आरटीआई ऐक्टिविस्ट जगदीश गोलीय की संगधिद हालत में मौत, 6/12/2021 थाने में प्रताड़ित होने से हुई, जिसमे FIR नहीं दर्ज हुई और धारा 174 में ही कार्यवाही की, मौत  से पूर्व दो वर्षों जगदीश गोलीय ने 47 अलग आरटीआई अलग विभागों में  डाली थी जिससे पुलिस ने बदले की भावना से कार्यवाही की, हालाँकि जांच में लीपा पोती हुई और मामला बंद किया गया
  • अमरा राम गोदरा तीसरे व्यक्ति है,जिन पर जानलेवा हमला हुआ है, उम्मीद है कि इस मसले में दोषियों को सज़ा होगी
    (.सूचना एवं रोजगार अधिकार अभियान, पीपुल्स यूनियन फॉर सिविल लिबर्टीज (पी.यू.सी.एल.) राजस्थान एंव सूचना के जन अधिकार का राष्ट्रीय अभियान राजस्थान  )

Leave A Reply

Your email address will not be published.

yenisekshikayesi.com