tranny with big boobs fellating a hard cock.helpful site https://dirtyhunter.tube

संविधान और बाबा साहब से प्रेरित है सूचना का अधिकार आंदोलन तथा जवाबदेही क़ानून की माँग – निखिल डे

58

सूचना का अधिकार आम जन का सामूहिक संघर्ष था और जवाबदेही का क़ानून भी लोगों की ताक़त से मिलेगा- शंकर सिंह 
 

24 दिसंबर, पाली -जवाबदेही यात्रा की आज की शुरुआत पिडियो की तलाई बुद्धम लाइब्रेरी से हुई जहां पर कुछ युवाओं ने बुद्धम लाइब्रेरी शुरू की है.यहां पर दलित युवा लोगों में जागृति का कार्य कर रहे हैं।

 
 देसूरी में बाबा साहेब आंबेडकर सावित्री बाई फुले पुस्तकालय में हुआ स्वागत एवं सभा 
देसूरी में बाबा साहेब आंबेडकर सावित्री बाई फुले पुस्तकालय में यात्रा का स्वागत किया गया और  और यहां पर अपनी बात रखते हुए सामाजिक कार्यकर्ता भंवर मेघवंशी ने अनुसूचित जाति जन जाति  विशेष विकास निधि ( आवंटन, क्रियान्वयन एवं उपयोजनाएँ) अधिनियम बनाने की माँग की और लोगों से हाथ खड़े करवा कर समर्थन लिया यहां पर संविधान मंच बनाने का प्रस्ताव रखा जिसे लोगों स्वीकार किया।

 
 कलेक्ट्रेट में लगा शिकायत मेला और हुई सभा 
पाली जिला मुख्यालय पर कलेक्ट्रेट में जवाबदेही यात्रा का मजमा लगा,जहां पर शिकायत मेला लगा जिसमें बड़ी संख्या में स्थानीय नागरिक आए और उन्होंने अपनी शिकायतें दर्ज कराई और यहां पर सभा हुई जिसमें यात्रा के साथ चल रहे कलाकार साथियों जिसमें प्रेम कंवर ने “ *आपा जवाबदेही कानून बनावा रे”* गीत प्रस्तुत किया.


यहां पर सभा को संबोधित करते हुए  प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता निखिल डे ने कहा कि संविधान और बाबा साहब से प्रेरित है सूचना का अधिकार आंदोलन तथा जवाबदेही क़ानून की माँग  भी उनसे प्रेरित है.


मजदूर किसान शक्ति संगठन के संस्थापक  शंकर सिंह ने कहा कि सूचना का अधिकार आम जन का सामूहिक संघर्ष था और जवाबदेही का क़ानून भी लोगों की ताक़त से मिलेगा.


सभा को गौडवाड़ आदिवासी संगठन से जुड़े वकताराम ने संबोधित किया और कहा कि आज भी लोगों को सामुदायिक वन अधिकार के पट्टे नहीं मिल रहे हैं और वन अधिकार के पट्टे जिनको मिले हैं उनको महात्मा गांधी नरेगा में 150 दिन का कार्य नहीं मिल रहा है। लोगों को सामुदायिक वन अधिकार के पट्टे दिए जाने की मांग की.


सभा को पारस बंजारा ने संबोधित किया और कहा कि घुमंतू समुदाय वर्षों से रह रहा है,लेकिन आज तक उनको पट्टे नहीं मिले उनको गांव वाले भगाते हैं.ये किसकी जवाबदेही है कि इनको पट्टे मिले और ये अपने आवास बनाकर रह सकें.


कलालिया गांव से आई सीमा ने कहा कि नरेगा में भुगतान नपती के आधार पर होता है और सरकारी कर्मचारियों और अधिकारियों के काम की कोई नपती नहीं है.जब तक इनके नपती की कोई व्यवस्था होगी तब तक हमें धक्के ही खाने पड़ेंगे इसलिए जवाबदेही कानून पास करवाना बहुत जरूरी है.


 अंबेडकर सर्कल से कलेक्ट्रेट तक निकली रैली 

अंबेडकर सर्कल से जिला कलेक्टर कार्यालय तक रैली निकाली जिसमें सैकड़ों की संख्या में लोगों ने भाग लिया और जवाबदेही कानून और अपने हक लेकर रहेंगे के नारे लगाए.


 जिला कलेक्टर के साथ हुई बैठक

जिला कलेक्टर श्री अंशदीप के साथ बैठक हुई जिसमें महत्मा गांधी नरेगा, घुमंतुओं के पट्टे, राशन, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, वन अधिकार, स्ट्रीट वेंडर्स के मुद्दे पर बात हुई जिला कलेक्टर ने उचित कार्यवाही किए जाने का आश्वासन दिया. 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

yenisekshikayesi.com