राज्य में स्वास्थ्य का अधिकार कानून पास किया जाए -पवित्र मोहन 

50

 राजतिलक स्थली पर हुआ यात्रा का स्वागत
 बीओसीडब्लयू से पंजीकृत श्रमिकों का फूटा गुस्सा,  सुनवाई नहीं कर रहे श्रम विभाग के अधिकारी

28 दिसंबर, गोगुंदा – जवाबदेही कानून पास करने की मांग को लेकर प्रदेश भर में निकाली जा रही जवाबदेही यात्रा मंगलवार दोपहर को राजतिलक स्थली पर पहुंची, जहां ग्राम पंचायत गोगुंदा के उपसरपंच लालकृष्ण सोनी, वार्ड पंच ओम सिंह व राजस्थान एकलव्य मजदूर यूनियन तथा मेवाड़ मीडिया रिसोर्स सेंटर के लोगों ने स्वागत किया। यहां यात्रा के लोगों ने गीत गाकर जवाबदेही कानून के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि राजस्थान की कांग्रेस सरकार अपनी चुनावी घोषणा पत्र में जवाबदेही कानून पास करने करने बात कही थी लेकिन 3 साल गुजरने जाने के बावजूद अभी तक कानून पास नहीं किया गया। 


इस बाद यात्रा रैली के रूप में शनिदेव मंदिर, मुख्य बाजार व सरिया मंदिर चौक से होती हुई चौगान में पहुंची। यहां रैली एक जनसभा में बदल गई। वहीं सायरा, चित्रावास, बरवाड़ा, पड़ावली कलां, रावलिया खुर्द, ओबरा कलां सहित दर्जनों गांवों से पहुंचे लोगों ने अपनी शिकायतें दर्ज करवाई।


एकलव्य मजदूर यूनियन व अरावली मजदूर सुरक्षा संघ सहित विभिन्न जन संगठनों के लोगों ने अपनी समस्याएं रखी। बीओसीडब्ल्यू की योजनाओं के लाभ समय पर न देने और आवेदनों को अकारण लम्बित रखने को लेकर आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि श्रम विभाग के अधिकारी मजदूरों की सुनवाई नहीं कर रहे है। 


 चौगान में हुई सभा
चौगान में आयोजित जन सभा को संबोधित करते हुए सामाजिक कार्यकर्ता शंकर सिंह ने कहा कि इतनी मोटी मोटी तनख्वाह लेने वाले कर्मचारी काम क्यों नहीं करते हैं  जबकि खजाने का अधिकार पैसा इनकी तनख्वाह और पेंशन में ही चला जाता है। सभा को संबोधित करते हुए डा. पवित्र मोहन ने कि देश और राज्य  में जवाबदेही कानून तो चाहिए ही उसी के साथ हमें स्वास्थ्य का अधिकार कानून भी चाहिए जिससे इलाज के अभाव में लोगों की मौत ना हो। 


सभा के अंत में जवाबदेही कानून के मुख्य प्रावधानों पर बोलते हुए निखिल डे ने कहा कि जो सरकारी अधिकारी, कर्मचारी, जन प्रतिनिधि काम नही करे उस पर जुर्माना लगाया जाए और जो चोरी करे या रिश्वत मांगे उसे जेल भेजा जाए। सभी उपस्थित जन समूह ने उनकी मांगों का समर्थन किया। जवाबदेही यात्रा के कलाकार साथियों ने “जवाबदेही यात्रा सवाल पूछे रे”  तथा “सब मिल आपा जवाबदेही कानून बनावा रे” एवं “जवाबदेही कोनी थारा राज में” आदि गीतों के माध्यम से लोगों को जागरूक किया। 

श्यामलाल, सरफराज शेख, राजेंद्र शर्मा, सलोनी, पूर्व पंचायत समिति सदस्य बी एस राव, पूर्व सरपंच करण सिंह झाला,अरावली मजदूर सुरक्षा संघ के भँवर लाल नंगारची, गहरी लाल, तख़्त सिंह, धापु बाई, गणेश लाल, शांता बाई अरावली मजदूर सुरक्षा संघ के जिलाध्यक्ष भैरूलाल,  एकलव्य मजदूर यूनियन के महामंत्री लालू राम चौहान ने यात्रा का समर्थन किया और अपने विचार रखे। 


 यात्रा के स्वयंसेवकों ने बांटे पर्चे

यात्रा के वॉलंटियर अमृता, माया, सविता, एवं अन्य ने जवाबदेही यात्रा के पर्चे बांटे जिसमें यह यात्रा क्यों की जा रही है और क्या है जवाबदेही कानून।   

Leave A Reply

Your email address will not be published.