संविधान दिवस के अवसर में  चाखू गाँव में हुई सांस्कृतिक संध्या में कलाकारों ने बांधा शमां 

8

भारत की एकता और अखण्डता बनाए रखने में संविधान की महत्वपूर्ण भूमिका पर वक्ताओं ने दिया व्याख्यान

घंटियाली- 27 नवम्बर। संविधान-दिवस को देश भर में धूमधाम से बनाया गया, इसी कङी में चाखू गाँव में स्थित शहीद-ऐ-आजम भगतसिंह पब्लिक स्कूल में हुई सांस्कृतिक संध्या में लोक-गायकों ने शुक्रवार देर रात तक शमा बांधे रखा।


साथी संस्थान और शहीद-ऐ-आजम भगतसिंह पब्लिक स्कूल के निदेशक अर्जुन मकवाना ने बताया कि जनसंगठनों के आह्वान पर संविधान, लोकतंत्र, सामाजिक न्याय, भाईचारा और देशप्रेम को मजबूत करने के लिए प्रेरित करने वाले गानों को सैकङों लोगों ने सराहा, लोकगीतों के माध्यम से सामाजिक बदलाव की दिशा में प्रयासरत लोकगायक रामसा कङेला और उनकी टीम ने सांस्कृतिक संध्या में बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर,आजादी की जंग और भारतीय संविधान पर गीतों के माध्यम से जबरदस्त माहौल बनाया।


इस मौके पर दलित शोषण मुक्ति मंच (डीएसएमएम) के प्रदेश संयोजक एडवोकेट किशन मेघवाल ने कहा कि वर्तमान दौर में हमारा देश विकट परिस्थियों का सामना कर रहा हैं जाति-धर्म के नाम पर बढती नफरत की राजनीति से भारतीय समाज के समक्ष खतरें बढ रहे हैं अतः संवैधानिक मूल्यों की सुरक्षा के लिए हमें लगातार संघर्ष करने होगें।


बतौर वक्ता के रूप में स्कूल व्याख्याता बाबुलाल गेंवा ने सामाजिक कुरीतियों को जङ मूल से उखाङ फैंकने का संदेश दिया ताकि वैज्ञानिक दृष्टिकोण वाले समाज की दिशा में आगे बढा जा सके, उन्होने अपने बौद्धिक सत्र में पौराणिक भारत से लेकर वर्तमान समय तक हुए बदलावों पर प्रकाश डाला।


कार्यक्रम को सफल बनाने के  लिए अखिल भारतीय किसान सभा, स्टूडेंट्स फैडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई), भारत की जनवादी महिला समिति ( एडवा), भारत की जनवादी नौजवान सभा (डीवाईएफआई), साथी संस्थान आऊ, राजस्थान शिक्षक संघ (अम्बेडकर) और दलित शोषण मुक्ति के आह्वान पर 26 नवंबर से 6 दिसंबर के दौरान “संविधान जागरूकता पखवाङा” मनाया जा रहा है, यह कार्यक्रम भी इसी श्रंखला का हिस्सा था।


इस मौके पर समाजसेवी भैराराम मकवाणा, राजस्थान शिक्षक संघ (अम्बेडकर) के अध्यक्ष गोविंदराम मेहरा,पंचायत समिति सदस्य गुमानाराम परिहार,मूलाराम परिहार, ठेकेदार प्रेम नांदणा, युवा उद्यमी धनाराम गंढेर, शिक्षक नेता गंगाराम चौहान, युवा नेता प्रेम कुमार जयपाल, समाजसेवी बन्नाराम मकवाना, गणेशाराम चिनिया, पुरखाराम कङेला, शिक्षक मेघराज परिहार, भंवरलाल चाहेलिया, दिनेश कुमार, नैनाराम पाबूसर,  शहीद-ऐ-आजम भगतसिंह पब्लिक के शिक्षक फूसाराम चिनिया, गोविंदराम चौहान, टीकूराम बापिणी, अनोप मेघवाल, बस्ताराम चौहान, नरपतराम पंवार, शीला मकवाना, तुलछाराम रोहिणा, डीवाईएफआई के संयोजक भंवरलाल इणखिया, पूर्व पंचायत समिति सदस्य नितेश इणखिया, लालाराम चांपासर, दिनेश कुमार, शिवलाल इणखिया, वार्ड पंच पदमाराम गोयल, मनमोहन मेघवाल, मोहनराम चिनिया, धूङाराम मकवाना, हंसराज मकवाना, नारायण मकवाना, भींयाराम बामणिया, नरेश मकवाना, सहित अनेक गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.