tranny with big boobs fellating a hard cock.helpful site https://dirtyhunter.tube

अररिया गैंग रेप पीडिता के दो सहयोगी तन्मय और कल्याणी जेल से रिहा

304

( सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जेल भेजने का आर्डर नाजायज )

अररिया, 6 अगस्त, 2020 , अररिया गैंग रेप पीडिता के दो सहयोगी तन्मय और कल्याणी को पच्चीस दिनों की हिरासत के बाद कल रात जेल से रिहा कर दिया गया .  दोनों सकुशल अपने निवास स्थान अररिया पहुच गए . 4 जुलाई के आर्डर में माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि इन्हें जेल भेजने का आर्डर impermisible (नाजायज) था . सर्वोच्च न्यायालय में इस केस की अगली तारीख अभी तय नहीं है. जल्द ही सुनवाई होने की उम्मीद है.


दोनों सामाजिक कार्यकर्ता स्वस्थ हैं और इस उम्मीद में हैं कि गैंग रेप के केस में अज्ञात लोगों को जल्द पकड़ा जाएगा. कल्याणी ने कहा कि कोर्ट बंद होने की वजह से सैंकड़ो कैदियों को जमानत नहीं मिल रही है और कैदियों में यह तनाव का एक बड़ा कारण है . तन्मय ने अपने वकील की टीम जिसमे वरिष्ठ अधिवक्ता वृंदा ग्रोवर, वरिष्ठ अधिवक्ता योगेश चन्द्र वर्मा, अररिया के वरिष्ठ अधि. देवनारायण सेन, अधि. शाहरुख़ आलम, अधि. अनुज प्रकाश, अधि. लिज़ मैथयु, अधि. शांतनु और अधि. श्रृष्टि शामिल हैं इन सबका आभार व्यक्त किया है . उसने कहा कि कोरोना काल की मुश्किलों का सामना करते हुए उन्होंने बेल हासिल किया .

दोनों सामाजिक कार्यकार्त ने उन तमाम लोगों का आभार व्यक्त किया जिन्होंने अपनी एकजुटता व्यक्त की .जन जागरण शक्ति संगठन इस आदेश का स्वागत करता है और इस बात पर विश्वास रखता है कि कल्याणी, तन्मय और सामूहिक बलात्कार की पीडिता को आने वाले दिनों में महिला थाना केस सं. 61/20 में सभी आरोपों से मुक्त किया जाएगा . हमें संतोष है कि माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने इस केस की सुनवाई की और यह मौखिक रूप से कहा कि न्यायिक हिरासत में भेजने का आर्डर नाजायज़ (impermisible) था. गैंग रेप मामले में पुलिस की जांच पड़ताल जारी है.

ज्ञात हो कि 10 जुलाई को अररिया की एक गैंग रेप पीड़िता को 164 का बयान देते वक्त उसके दो सहयोगियों के साथ कोर्ट से ही जेल भेज दिया गया था. पीड़िता को 17 जुलाई को निचली अदालत से जमानत मिली थी पर कल्याणी और तन्मय को जमानत नहीं दी गयी थी . हाई कोर्ट और सेशन कोर्ट बंद होने के कारण सुप्रीम कोर्ट में पेटीशन दाखिल किया गया था . हमारा कानूनी और ज़मीनी संघर्ष जारी रहेगा. हमे उम्मीद है कि सामूहिक बलात्कार की पीड़िता द्वारा दायर किये हुए प्राथमिकी 59/2020 पर पुलिस त्वरित कारवाई करेगी और घटना में शामिल चार आरोपी जो अभी भी खुले घूम रहे हैं को जल्द से जल्द हिरासत में लेगी .  

Leave A Reply

Your email address will not be published.

yenisekshikayesi.com