बीजेपी के पूर्व विधायक कँवर लाल मीना को अकलेरा की अदालत द्वारा 3 साल की कारावास !

112

                                                                                                                                           जयपुर. 14 दिसम्बर, 2020 सूचना एवं रोजगार अधिकार अभियान, MKSS एवं PUCL को ख़ुशी है कि अंततः अकलेरा, झालवाड़, के पूर्व विधायक, कंवरलाल मीणा जिन्हें वसुंधरा राजे सरकार का पूरा समर्थन था, को अकलेरा के ADJ कोर्ट ने राजकार्य में बाधा डालने के तहत, धरा 353 IPC के अंतर्गत दो साल की कारवास की सज़ा दी है व जान से मारने के धमकी IPC sec 506 में तीन वर्ष की सजा दी गई I कंवरलाल मीना पुलिस हिरासत में लिए जा चुके हैं I

 
यह मसला 3 feb 2005 के पंचायती राज चुनाव को लेकर था I उपसरपंच के हुए चुनाव के परिणाम को नहीं मानते हुए, उन्हें रदद् करने की मांग करते हुए उस समय के RAS अधिकारी श्री रामनिवास जी मेहता (तत्कालीन sdm अकलेरा) की कनपटी पर revolver लगा के चुनाव परिणाम को बदलने की धमकी दी थी I  इस संदर्भ में कंवर लाल मीणा पर FIR दर्ज करवाई गई। जिसमे धारा 392,332,353,506 IPC व धारा 3 PDPP एक्ट के तहत मामला दर्ज हुआ था।

लंबे समय तक चले मामले में 2018 में कवंर लाल मीणा को ACJM की मनोहरथाना की निचली अदालत से बरी कर दिया था । अब अपील कोर्ट से सजा हुई है I वर्तमान में राम निवास मेहता जॉइंट सेक्रेटरी गृह हैं ज्ञात होगा की कंवर लाल मीणा पर इसके अलावा भी कई तरह के आपराधिक केस चल रहे हैं ।

2016 में सुचना एवं रोज़गार अधिकार अभियान यात्रा द्वारा आयोजित संपूर्ण राजस्थन की जवाबदेही यात्रा पर तत्कालीन विधायक कँवर लाल मीना ने बुरी तरह अपने  40 गुंडों के साथ, लाठियों से हमला बोल दिया था  और अनके कार्यकर्ता घायल हुए थे I दो साल के आन्दोलन के बाद कंवर लाल मीना को स्थानीय पुलिस ने हिरासत में लिया था और हाथो हाथ ज़मानत दे दी गई थी I इस हमले के दो मामले दर्ज हुए थे और दोनों में आरोप पत्र हुए I

एक मामले की सुनवाई अब मार्च 2021में हैं I दूसरा मसला अभी तारीखों में पड़ा हुआ है I 2018 में विधान सभा चुनाव के पूर्व में बतौर जनता के बीच अभियान चलाया गया और उसकी सफलता के तहत ही कँवर लाल मीना को BJP द्वारा टिकट नहीं उपलब्ध कराया गया I


हमें खुशी है कि न्याय की जीत हुई है । परंतु साथ ही यह भी सुनिश्चित करने की जरूरत है की ऐसे अपराधी प्रवृत्ति के नेताओं को तुरंत सजा मिलनी चाहिए, जिससे न्याय का इंकबाल बुलंद हो और आम जनता में अन्याय के खिलाफ आवाज उठाने की ताकत बनी रहे। ऐसे अपराधियों को जनता को भी नकरना चाहिए 

Leave A Reply

Your email address will not be published.