यहां कौन है तेरा ,मुसाफिर तू जायेगा कैसे ?

राजस्थान रोड़वेज की हड़ताल

294

(नारायण बारेठ)


राजस्थान रोडवेज -रोज करोडो का घाटा
पर फायदा किसकी जेब में जा रहा है ?
प्राइवेट की पॉकेट में।
प्राइवेट में कौन है ? कुछ नेताओ की बसे है ,कुछ उनके मिलने वालो की है ,कुछ उनके मर्जीदानो की है।
खामियाजा कौन भुगत रहा है ?
आम जनता और कर्मचारी।
यह तस्वीर समय की सतह पर बहुत निराशा पैदा करती है।
और इसी निराशा में एक सेवा निवृत कर्मचारी ने जयपुर में खुदकशी कर ली। सेवा निवृत कर्मचारी अपने बकाया को लेकर परेशान है। काम पर लगे कर्मचारी अपनी तनख्वाह को लेकर चिंतित है।
पिछले साल अप्रैल की बात है। राजस्थान विधान सभा ने अपने मंत्री विधायकों और मुख्य मंत्री के वेतन भतो और सुविधाओं में बढ़ोतरी कर ली। लगे हाथ सदन ने भूतपूर्व होने वालो के लिए भी इंतजाम कर लिया। प्रस्ताव ध्वनि मत से पारित हो गया। न कोई विरोध न अवरोध। क्योंकि सभासदो को लगा ‘महंगाई बहुत बढ़ गई है,मौजूदा वेतन भतो में काम नहीं चलता।
चार पांच दिन पहले ही राजस्थान हाई कोर्ट ने सरकार से रोडवेज का आर्थिक संकट दूर करने की ठोस नीति बना कर लाने को कहा। अदालत ने 11 अक्टूबर शपथ पत्र पर जानकारी देने को कहा है।
देश में 54 सरकारी रोडवेज निगम है। इनमे से छह सात लाभ कमा रहे है। मगर ये फायदा कमा रहे निगम सरकार को प्रेरणा नहीं देते। बल्कि उसे पड़ोस में पंजाब उदाहरण अच्छा लगा। पंजाब में एक राजनैतिक परिवार ने सता में आते ही रोडवेज को पंगु बना दिया /रोडवेज की बसे घटती गई ,परिवार की बसे बढ़ती गई। अब पंजाब में परिवहन कारोबार पर उस एक परिवार का दबदबा है।
राजस्थान में रोडवेज को पल पल खत्म किया जा रहा है। सत्तापक्ष का कोई विधायक नहीं बोलता। विपक्ष भी खामोश है। एक सता बरकार रखने को बेकरार है ,दूसरा शपथ के ख्वाब लिए घूम रहा है।
रोडवेज के आंकड़े बोलते है कि उसकी बसे हर दिन साढ़े नो लाख लोगो को उनकी मंजिल तक पहुंचाती थी। अब मुसाफिर प्राइवेट के रहमो करम पर छोड़ दिए गए है।
यात्रियों से भरे भरे रहने वाले बस अड्डों पर सन्नाटा पसरा है। गाइड फिल्म के लिए शैलेन्द्र ने एक गीत लिखा था -वहां कौन है तेरा ,मुसाफिर जायेगा कहाँ ?
कोई बेखबर मुसाफिर जब बस अड्डे पर पहुंचता है तो यही बोल फिजा में कुछ बदले बदले सुनाई देते है –
यहां कौन है तेरा ,मुसाफिर तू जायेगा कैसे ?
सादर

(वरिष्ठ पत्रकार नारायण बारेठ की फेसबुक वाल से साभार)

Leave A Reply

Your email address will not be published.