आम जन का मीडिया
This Hostel of Revdar!

रेवदर का यह राजकीय छात्रावास !

– बलवंत मेघवाल ,रेवदर 

रेवदर का राजकीय छात्रावास जो काफी लम्बे समय से बन्द पड़ा है। इमारत आज भी अपनी नवीनता को लेकर खड़ी है पर क्या कारण रहे होंगे जो इसे बंद करना पड़ा हो वो तो हमे नही पता, पर रेवदर जनप्रतिनिधियो और प्रशासनिक अधिकारियो के अनदेखी से यह इमारत दिन प्रतिदिन अपनी रंगत खो रही है।

एक समय था तब यहाँ बच्चे पढ़ा करते थे और पूरी तरह यहाँ का वातावरण सुचारू छात्रावास की तरह था लेकिन आज सिर्फ एक गुमनाम इमारत बनकर रह गयी है। बाहर गाँवो से आज भी जो विधार्थी उपखण्ड मुख्यालय पर पढ़ने आते है उनके लिए यह छात्रावास उपयुक्त है पर क्या करे?आखिर गलती कहाँ हो रही है किस कारण से विशाल परिसर में फैले छात्रावास पर ताला लटक गया है!


जब हमारी टीम छात्रावास परिसर में पहुँची तो पाया यह भवन निजी टेंडर पर स्कूलो में साईकले वितरित करने वाले लोग यहाँ तम्बू गाड़े हुए है और साइकिले बनाने का काम कर रहे है। निजी ठेकेदार के लिये स्थान का चुनाव पूरी तरह गैर वाजिब है चलो ठीक है कही न कही भवन का इस्तेमाल तो हो रहा है।लेकिन थोड़ी तनिक कोशिश से यह छात्रावास पूर्णतः सुचारू हो सकता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.