Browsing Tag

bjp

दीनदयाल उपाध्याय और दलबदल !

दलबदल एक ऐसा संक्रामक रोग है जो हमारी संसदीय व्यवस्था को खोखला कर रहा है। इस रोग की गंभीरता को अन्य लोगों के अलावा जनसंघ के संस्थापक और भारतीय जनता पार्टी के लाखों सदस्यों के प्रेरणास्त्रोत दीनदयाल उपाध्याय ने भी समझा था। उन्होंने 27 फरवरी

गोडसे का महिमामंडन और गांधी का कद छोटा करने की दक्षिणपंथी कवायद !

(राम पुनियानी) हर राष्ट्रवाद अपने ‘इतिहास’ का निर्माण करता है. जाने-माने इतिहासविद् एरिक उब्सबान के अनुसार, “राष्ट्रवाद के लिए इतिहास वही है, जो गंजेड़ी के लिए गांजा”. इसमें हम यह जोड़ सकते हैं कि हर राष्ट्रवाद अपनी विचारधारा के अनुरूप

कितने मासूम हैं वे…!

(Hemant Kumar Jha) कितने मासूम हैं वे...बिल्कुल उस बच्चे की तरह जिसे चावल का भूंजा 'कुरकुर' भी चाहिये और 'मुरमुर' भी चाहिये। उसी तरह उन्हें भी...एक खास तरह का राष्ट्रवाद भी चाहिये, नकारात्मक किस्म के सांस्कृतिक वर्चस्व की मनोवैज्ञानिक

गोड़से के राजनैतिक उत्तराधिकारी !

-(राम पुनियानी)   मालेगांव बम धमाके प्रकरण में आरोपी प्रज्ञा ठाकुर, जो कि स्वास्थ्य के आधार पर ज़मानत पर रिहा हैं, नाथूराम गोड़से पर अपने बयान के कारण विवादों के घेरे में आ गई. बल्कि, उसके पहले से ही अलग-अलग कारणों से उनकी आलोचना हो रही…

लोकसभा चुनाव पाँचवा चरण: बीजेपी के उम्मीदवार सबसे ज्यादा करोड़पति

(जयपुर,1 मई 2019) नेशनल इलेक्शन वाच और एसोसियेशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स ने लोकसभा चुनाव के पांचवे चरण में चुनाव लड़ने वाले 674 उम्मीदवारों में से 668 उम्मीदवारों के शपथ पत्रों का विश्लेषण किया I इन सभी उम्मीदवारों में से 149 राष्ट्रीय…

यह समय मन मारकर बैठ जाने का नहीं, अपने प्रतिरोध को व्यक्त करने का है !

(एच.एल.दुसाध) मित्रों, समसामयिक मुद्दों पर सोशल मीडिया में जिस तरह वैविध्यपूर्ण टिप्पणियां आ रही हैं, दैनिक पत्रों के प्रति मेरा आकर्षण तो कमतर होते जा रहा है. इस मध्य गत एक माह से ‘डाइवर्सिटी डे’ के आयोजन में अतिरिक्त रूप से व्यस्त रहने…

अब ये आरएसएस की ‘मुख्यधारा’ क्या बला है !

(भँवर मेघवंशी) हर कोई हर किसी को मुख्यधारा से जोड़ने में लगा है । कोई दलितों को तो कोई आदिवासियों को मुख्यधारा से जोड़ रहा है ,किसी को फिक्र है कि देश का अल्पसंख्यक मुख्यधारा से दूर है । बरसों बाद आर एस एस को पता चला है कि घुमन्तू समुदाय…

पटेल को बड़ा दिखाने के लिए नेहरू को छोटा करने की साजिश !

पिछले कुछ वर्षों से 31 अक्टूबर के आसपास, संघ परिवार, सरदार वल्लभभाई पटेल का महिमामंडन करने वाले बयानों की झड़ी लगा देता है। सन 2017 का अक्टूबर भी इसका अपवाद नहीं था। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘‘मैं भाजपा से हूं और सरदार पटेल कांग्रेस में थे…

शरद यादव पर भूल कर भी भरोसा मत करना !

शरद यादव ने नितीश को छोड़ दिया,मैं इतना बच्चा नहीं हूँ कि तालियाँ बजा कर नाचने लगूंगा कि बस अब तो मोदी सरकार के पतन और भारत में लोकतान्त्रिक धर्म निरपेक्ष सामाजिक न्याय की शक्तियों के इकट्ठे हो जाने की शुरुआत हो गई है.मुझे शरद यादव पर बिलकुल…

खट्टर सरकार ने हरियाणा को तालिबान बना दिया !

मनोहर लाल खट्टर (अब मुझे आपके नाम के आगे माननीय और पीछे जी लगाने का मन नहीं है) की सरकार ने हरियाणा को तालिबान बना दिया है. जबसे हरियाणा में ये सरकार आयी हैं, महिलाओं और लड़कियों का जीना दुभर हो गया हैं. मोरल वैल्यू के स्तर पर सबसे निचले…