Browsing Tag

भील

अदृश्य नायक ‘राणा पूंजा’ जिन्हें भुला दिया गया !

1576 ई. में मेवाड़ में मुगलों का संकट उभरा। इस संकट के काल में महाराणा प्रताप ने भील राणा पूंजा का सहयोग मांगा। ऐसे समय में भील मां के वीर पुत्र राणा पूंजा ने मुगलों से मुकाबला करने के लिए मेवाड़ के साथ अपने दल के साथ खड़े रहने का निर्णय…

पाटन में मना विश्व आदिवासी दिवस

पाटन मे विश्व आदिवासी दिवस समारोह बडी धुमधाम से मनाया गया.यह समारोह आदिवासी मीना समाज सेवा समिति पाटन ,सीकर तथा आदिवासी सार्थक विचार मंच राजस्थान की ओर से आयोजित किया गया था , जिसमे आदिवासी समाज के इतिहास औऱ वर्तमान हालत पर चर्चा हुई. इस…