Browsing Tag

बौद्ध

बुद्ध की हवा में जाना खतरे से खाली नहीं…..!

( डॉ एम एल परिहार )बुद्ध प्रेम,करुणा, ध्यान के पहले विद्रोह का नाम है. परम्परागत रूढियों, सड़ी गली मान्यताओं , अंधविश्वासों व अज्ञान के अंधेरे के खात्मे का नाम है. इसलिए इस पृथ्वी पर जब भी कोई धाम्मिक व्यक्ति हुआ है वह विद्रोही होता है. वह

आर एस एस के प्रति आगाह करती एक जरूरी किताब !

 ( तारा राम गौतम ) 20 अक्टूबर 2019 को जयपुर मैं पी एम बौद्ध द्वारा आयोज्य एक कार्यक्रम में शरीक होने का अवसर मिला। कार्यक्रम में कई लोगों से मिलकर अच्छा लगा। वहां पर पी एम बौद्ध की व्यस्तता के कारण उनसे क्षण भर की मुलाकात ही हुई, कोई

धम्मभूमि थाईलैंड : भ्रांतियां एवं सत्य

(डॉ.एम.एल. परिहार) इन दिनों हम दस साथी थाईलैंड (सियाम देश ) की यात्रा पर हैं. राजधानी बैंकॉक के बुद्ध विहारों के अलावा सवा सौ किमी. दूर प्राचीन राजधानी अयूथ्या व ग्रामीण क्षेत्र का भी भ्रमण किया. भारत की तरह थाईलैंड का भी बुद्ध व धम्म

बुद्ध कोई सजावट की वस्तु नहीं !

(डॉ.एम.एल.परिहार)बौद्ध देशों में तथागत बुद्ध का दैनिक जीवन में वास्तव में बहुत सम्मान किया जाता है.बुद्ध की प्रतिमाओं व चित्रों का उपयोग बहुत सोच समझकर करते हैं. जबकि भारत में तो बीड़ी गुटखा व मिलावटी जहरीली विनाशकारी वस्तुएं भी देवी

कौन है देश की गुलामी के गुनाहगार ?

-डॉ. एम एल परिहार आज हम देश की उस आजादी का जश्न मना रहे हैं जिसके लिए हर क्षेत्र के देशप्रेमियों ने अपना त्याग व बलिदान दिया था. मेहनतकश किसान, मजदूर, दलित, आदिवासी,सेनानी , क्रांतिकारी, लेखक,विचारक नेता आजादी के मतवालों ने अपना योगदान

बौद्ध धर्म के पतन का कारण और भविष्य की दिशा 

बौद्ध धर्म के पतन के बारे में बहुत स्पष्ट जानकारी नहीं है. लेकिन आधुनिक रिसर्च से आजकल कुछ बात स्पष्ट हो रही है. इस विषय को ठीक से देखें तो भारत में बौद्ध धर्म का पतन का और स्वयं भारत के एतिहासिक पतन और पराजय का कारण अब साफ़ होने लगा है. इस…