Browsing Tag

दलित

सरपंच बनने के लिये शेड्यूल कास्ट बन गया एक गुर्जर परिवार !

( भंवर मेघवंशी )राजस्थान के अन्य हिस्सों के गुर्जर लोग आरक्षण का फ़ायदा लेने के लिए आंदोलन की राह पर हैं , मगर भीलवाड़ा ज़िले की आसीन्द तहसील की बोरेला ग्राम पंचायत के जोधा का खेड़ा गाँव का हरदेव गुर्जर चुपचाप , बिना कोई शोर शराबा किये

चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा पर कांग्रेस के दलित विधायक बैरवा का गुस्सा फूटा

( अशफाक कायमखानी )राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खासमखास व विवादों मे रहने वाले चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा पर कठूमर से निर्वाचित कांग्रेस विधायक बाबूलाल बैरवा ने सीधे तौर पर ब्राह्मण बिरादरी से ही ताल्लुक रखने के कारण दलित

हाथरस की बेटी के साथ न्याय हो : जातीय गुंडों के खिलाफ सख्त कार्यवाही हो

( विद्या भूषण रावत )उत्तर प्रदेश के हाथरस में वाल्मीकि समाज की लड़की की जिस बेरहमी से बलात्कार के बाद ह्त्या की गयी है वह दिल दहला देने वाली है. वैसे यह घटना 14 सितम्बर को घटी और उसके बाद से ही लड़की के परिवार वाले भटक रहे थे के उसके साथ

डॉ. आंबेडकर : पुलिस, जासूस, और अखबारों की नजर से

( अनिरुद्ध कुमार )मानव सभ्यता के प्रारम्भ से ही सरकारी आदेशों, परिपत्रों, पुलिस और जासूसी संस्थाओं की रिर्पोटों की इतिहास लेखन में एक महत्त्वपूर्ण भूमिका रही है। इतिहास लेखन या उनके पुनर्लेखन में इन हजारों वर्षों से ये स्रोत ऐतिहासिक

वंचित समूहों को कब मिलेगी घुटन से मुक्ति ?

-राम पुनियानी अमरीका के मिनियापोलिस शहर में जॉर्ज फ्लॉयड नामक एक अश्वेत नागरिक की श्वेत पुलिसकर्मी डेरेक चौविन ने हत्या कर दी. चौविन ने अपना घुटना फ्लॉयड की गर्दन पर रख दिया जिससे उसका दम घुट गया. यह तकनीक इस्राइली पुलिस द्वारा खोजी गई

जम्मू कश्मीर के दलित शहीद : भगत अमरनाथ !

( प्रवीण कुमार अवर्ण ) शहीद भगत अमरनाथ जी का जन्म, सन् 1928 बटोत के नजदीक, एक छोटे से गाँव चम्पा, तहसील और जिला रामबन में हुआ था. इनके पिताजी का नाम श्री मोती राम और माताजी का नाम श्रीमती जानकी देवी था. भगत अमरनाथ जी ने अपनी आठवीं तक की

शोषित समाज पर अत्याचार लगातार जारी हैं, ऐसा क्यों ?

(बी एल बौद्ध) कोरोना महामारी के चलते लॉक डाउन चल रहा है जिसके कारण साइकिल से लेकर हवाई जहाज तक सब कुछ रुका हुआ है लेकिन ऐसे में भी शोषित समाज पर जुल्म और अत्याचार लगातार जारी हैं, ऐसा क्यों ?ताजा घटना राजस्थान के जोधपुर जिले की है वहां

कोरोना वायरस : दलित समाज के लिए घातक हो सकता है

(डाॅ गुलाब चन्द जिन्दल 'मेघ' ) मैं बहुत चिंता में हूँ। जबसे कोरोना वायरस संक्रमण फैलने की जानकारी भारत में आने लगी है। और इस वैश्विक महामारी के खतरे और प्रसार से बचने के लिए विभिन्न उपाय किए जा रहे हैं। इनमें मंदिर, मस्जिद, चर्च,

राजस्थान में अनुसूचित जाति व जनजाति उपयोजनाओं पर कानून बनाने की मांग ने जोर पकड़ा

4 फरवरी, 2020-राजस्थान में अनुसूचित जाति व जनजाति उपयोजनाओं पर कानून बनाने की आवश्यकता पर बजट अध्ययन एवं अनुसंधान केन्द्र (BARC), सूचना एवं रोजगार अधिकार अभियान (SR Abhiyan), दलित अधिकार केन्द्र (CDR), अखिल भारतीय

डॉ.अंबेडकर को समझने के लिए एक जरुरी पुस्तक

( इन्द्रेश मैखुरी )पीछे मुड़ कर देखना एक जरूरी काम है. लेकिन राजनीति में पीछे मुड़ के देखने के दो नजरिए हैं. प्रतिगामी विचार के वाहक अतीत में ही जीते हैं और तमाम आधुनिक संसाधनों का लाभ उठाते हुए,वैचारिक स्तर पर समाज को पीछे ही ले जाना