Browsing Tag

दलित

दलितों की जमीन हड़पने का प्रयास,महिलाओं के कपड़े फाड़े !

(गोपाल राम वर्मा)   जोधपुर जिले की तिंवरी पंचायत समिति के गोपासरिया गाँव में कुछ दबंगों द्वारा दलितों की जमीन हड़पने के लिए मारपीट करने का मामला सामने आया है I गोपासरिया निवासी धन्नाराम मेघवाल ने फैक्ट फाइंडिंग के लिए पंहुचे सामाजिक…

टोगड़ा-टोगड़ी की शादी की चिंता, लेकिन कुंआरों की फौज खड़ी है !

(डॉ.एम.एल.परिहार) ------------------------------ मेघवाल समाज आए दिन दूसरी जातियों को कोसते रहता हैं लेकिन कड़वी सच्चाई यह है कि हमारी अशिक्षा, गरीबी व दरिद्रता के लिए काफी हद तक हम खुद ही जिम्मेदार हैं। मेघवाल समाज ने कुरीतियों से मानो…

दलित महिला सामाजिक कार्यकर्ता के साथ मारपीट !

(गोपाल राम वर्मा)   जोधपुर जिले के बलरावा गाँव की दलित महिला सामाजिक कार्यकर्ता श्रीमती पतासी देवी पत्नी अचलाराम मेघवाल को बेइज्जत कर मारपीट का मामला सामने आया है I पीड़िता पतासी देवी ने बताया कि 25 अप्रैल रात जब वो और उनके एक साथी एक…

दलित गरीब मजदूर को ज़िंदा जला दिया गया !

राजस्थान के भीलवाड़ा जिले के तिलस्वा में एक कांग्रेस नेता की खदान पर बागवानी का काम करने वाले दलित मजदूर गंगाराम बलाई को पेड़ से बांधकर ज़िंदा जला कर मार डाला गया है। मृतक शाहपुरा क्षेत्र के ईटमारिया गांव का निवासी था। घटना बिजोलिया थाना…

दलित ,आदिवासी और क्षत्रिय सामाजिक सद्भावना संवाद !

(जयपुर संवाद) दलित,आदिवासी व क्षत्रिय समाज के मध्य हुये अपनी तरह के इस प्रथम "सामाजिक सद्भावना संवाद" के दौरान वरिष्ठ पत्रकार नारायण बारेठ सबके विशेष आग्रह पर इंडिपेंडेंट ऑब्जर्वर के नाते पूरे समय मौजूद रहे,सबको उन्होंने असीम धैर्यपूर्वक…

दलित ,आदिवासी और क्षत्रिय समुदाय के बीच संवाद की एक अभिनव पहल !

जयपुर संवाद -1 किसी ने क्या खूब कहा - "नफरतों का सफर ,एक कदम ,दो कदम तुम भी थक जाओगे,हम भी थक जाएंगे।" सब तरफ जब घृणा ,अविश्वास और द्वेष का भाव द्विगुणित हो रहा है,माहौल में जहर है,विचार नफ़रत सने है। कोई किसी की सुनने को तैयार नहीं है…

कभी कचरा बीनते थे और आज चंडीगढ़ के मेयर है राजेश कालिया !

दलित वाल्मीकि समुदाय से आने वाले 46 वर्षीय राजेश कालिया शनिवार को हुए एक चुनाव में 20 में से 16 वोट पाकर मेयर बन गए हैं I राजेश कालिया कभी अपने 6 भाई-बहनों के साथ कूड़ा उठाकर परिवार का गुजारा करते थे I राजेश के पिता कुंदनलाल ने मीडिया से…

आरक्षित सीटों पर चौधराहट की नयी पेशकश !

(भंवर मेघवंशी)  नागौर जिले की मेड़ता रिजर्व सीट से भाजपा और कांग्रेस ने नया प्रयोग किया है,इस नवाचार में भाजपा व कांग्रेस से जो प्रत्याशी बने है,वे पूना पैक्ट की सबसे कमजोर औलादों का जीवंत उदाहरण है । भाजपा ने अपने वर्तमान विधायक सुखराम…

विधानसभा चुनाव 2018: इस बार किधर जाएंगे दलित आदिवासी मतदाता ?

(भंवर मेघवंशी) साढ़े चार साल तक संगठित रहने की बात कहने वाले अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग के मतदाताओं की सबसे बड़ी विडंबना यह है कि चुनाव नजदीक आते ही वे बिखरने लग जाते है,जबकि अन्य समुदाय साढ़े चार साल झगड़ते है और चुनाव से 6 माह पहले एक…

दलित महिलाओं का ऐतिहासिक महासमागम !

दलित अधिकार केन्द्र जयपुर, दलित महिला मंच, राजस्थान व एक्शनएड जयपुर के संयुक्त तत्वाधान में दिनांक 4-5 अक्टूबर 2018 को पास्टल सोशल सेन्टर, मदार, अजमेर में राज्य स्तरीय ‘‘दलित महिला महा समागम‘‘ का ऐतिहासिक आयोजन किया गया। उद्घाटन भाषण में…