Browsing Tag

डॉ अम्बेडकर

डॉ.अंबेडकर को समझने के लिए एक जरुरी पुस्तक

( इन्द्रेश मैखुरी )पीछे मुड़ कर देखना एक जरूरी काम है. लेकिन राजनीति में पीछे मुड़ के देखने के दो नजरिए हैं. प्रतिगामी विचार के वाहक अतीत में ही जीते हैं और तमाम आधुनिक संसाधनों का लाभ उठाते हुए,वैचारिक स्तर पर समाज को पीछे ही ले जाना

अम्बेडकर के अंतिम संदेश: बुद्ध, धम्म और भूमि के लिए संघर्ष करो।

(प्रवीण कुमार अवर्ण ) बाबा साहब अम्बेडकर को लेकर यह आम धारणा है कि उन्होंने संसद की तरफ इशारा किया है। परन्तु बाबा साहब अम्बेडकर के जीवन के अंतिम चरण को अगर ध्यान से देखें तो पाएंगे कि उन्होंने सामाजिक एकता की ओर इशारा किया है और उस

भगतसिंह, सुखदेव और राजगुरू की शहादत पर डॉ अम्बेडकर के विचार

( यह आलेख डॉ अम्बेडकर द्वारा सम्पादित पाक्षिक अख़बार 'जनता' के 13 अप्रैल 1931 के अंक में छपा था ) भगतसिंह, सुखदेव और राजगुरू इन तीनों को अन्ततः फांसी पर लटका दिया गया। इन तीनों पर यह आरोप लगाया गया कि उन्होंने सान्डर्स नामक अंग्रेजी

महामना रामस्वरुप वर्मा अमर रहें !

- प्रशांत निहाल "जिसमें समता की चाह नहीं, वह बढ़िया इन्सान नहीं-समता बिना समाज नहीं, बिन समाज जनराज नहीं।" ये वर्मा जी का मशहूर नारा था . इस नारे से पता चलता है वर्मा जी कितने समतावादी इंसान थे. आज महामना श्री रामस्वरूप वर्मा की

बाबासाहेब का सपना था कि बहुजन धनवान बनें !

-एम एल परिहार महान अर्थशास्त्री डॉ अंबेडकर के कई सपने थे. वे चाहते थे कि बहुजन हमेशा नौकरी मांगने वाले ही नहीं बने रहे बल्कि नौकरी देने वाले भी बने.उनका सपना था कि गरीबी के कारण सदियों से दुख झेल रहा बहुजन धनवान बने. आजादी से

बुद्ध और बाबा साहेब के सच्चे मिशनरी : डॅा. एम.एल. परिहार

- भंवर मेघवंशीजन्म सामंती राजस्थान के अतिसांमती जिले पाली की देसूरी तहसील में एक छोटा-सा गांव है करणवा।जातिवाद और सामंतवाद का भयानक मिश्रण जहां पर दलित अक्सर अपनी पूरी जिन्दगी हाली (बंधुआ मजदूर) के रूप में गुजारने को अभिशप्त थे,

संविधान के उद्देश्यों को व्यर्थ करनेवालों में शीर्ष पर प्रधानमंत्री मोदी !

(एच.एल.दुसाध) आज 26 नवम्बर है: संविधान दिवस ! 1949 में आज ही के दिन बाबा साहेब डॉ. आंबेडकर ने राष्ट्र को वह महान संविधान सौपा था, जिसकी उद्देश्यिका में भारत के लोगों को सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक न्याय सुलभ कराने की घोषणा की गयी थी.…

फेसबुक बंद करना चाहती है दिलीप मंडल का अकाउंट ?

( विशेष प्रतिनिधि ) देश के जाने माने मीडिया विशेषज्ञ एवं बहुजन चिंतक दिलीप मंडल का फेसबुक अकाउंट कभी भी बन्द किया जा सकता है । मंडल ने उपरोक्त जानकारी देते हुए लिखा है कि -"फ़ेसबुक पर मेरी कोई…