Browsing Tag

आरएसएस

स्वामी विवेकानंद और उनका मानववाद !

(नेहा दाभाड़े) आज जिस भारत में हम रह रहे हैं, उसमें धर्म और धार्मिक पहचान ने सार्वजनिक जीवन में महत्वपूर्ण स्थान हासिल कर लिया है और वे सार्वजनिक और नीतिगत निर्णयों को प्रभावित कर  रहे हैं। नागरिकता संशोधन विधेयक, कुछ धर्मों को अन्य…

गोड़से के राजनैतिक उत्तराधिकारी !

-(राम पुनियानी)   मालेगांव बम धमाके प्रकरण में आरोपी प्रज्ञा ठाकुर, जो कि स्वास्थ्य के आधार पर ज़मानत पर रिहा हैं, नाथूराम गोड़से पर अपने बयान के कारण विवादों के घेरे में आ गई. बल्कि, उसके पहले से ही अलग-अलग कारणों से उनकी आलोचना हो रही…

अयोध्या में धर्म संसद : फिर मांद से निकले साधु-संत !

(एच.एल.दुसाध) विगत दो दशकों से जब-जब लोकसभा चुनावों का समय आता है, साधु-संत राम मंदिर निर्माण के प्रति अपनी उग्र प्रतिबद्धता का इजहार कर निरीह हिन्दुओं की धार्मिक चेतना का राजनीतिकरण करने की कोशिश में जुट जाते हैं और चुनाव ख़त्म होते ही…

आरक्षण पर सर्वे को लेकर गुलाब कोठारी के नाम ख़त !

प्रिय कोठारी जी , आरक्षण को लेकर आपने एक सर्वे किया है, आपके अखबार को लेकर एक रिसर्च मैंने भी की है। हाल ही में आपके अखबार के प्रथम पृष्ठ पर एक सर्वे छपा, जिसमें बताया गया था कि आरक्षण से किस प्रकार समाज में वैमनस्य बढ़ रहा हैं। हालांकि…

अब ये आरएसएस की ‘मुख्यधारा’ क्या बला है !

(भँवर मेघवंशी) हर कोई हर किसी को मुख्यधारा से जोड़ने में लगा है । कोई दलितों को तो कोई आदिवासियों को मुख्यधारा से जोड़ रहा है ,किसी को फिक्र है कि देश का अल्पसंख्यक मुख्यधारा से दूर है । बरसों बाद आर एस एस को पता चला है कि घुमन्तू समुदाय…

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का एससी-एसटी के प्रति प्रेम !

(त्रिभुवन) वह देश का एक महाकाय संगठन है। उसकी एक राजनीतिक शाखा है। वह आज तक आरक्षण के ख़िलाफ़ था। एकदम खुला। निडर और साहसी। डंके की चोट पर। इस संगठन से जुड़े हमारे 'मित्र' एससी-एसटी को लेकर बहुत कुछ ऐसा कहते थे, जो बताता था कि भारतीय…

फेसबुक बंद करना चाहती है दिलीप मंडल का अकाउंट ?

( विशेष प्रतिनिधि ) देश के जाने माने मीडिया विशेषज्ञ एवं बहुजन चिंतक दिलीप मंडल का फेसबुक अकाउंट कभी भी बन्द किया जा सकता है । मंडल ने उपरोक्त जानकारी देते हुए लिखा है कि -"फ़ेसबुक पर मेरी कोई…