पेंशन बचाओ आंदोलन ने जिला संयोजक मण्डल का किया गठन

- डॉ.भरत मीना

254
पेंशन बचाओ आन्दोलन (पीबीए) के कार्यकर्ताओं की मीटिंग आज कंपनी बाग में आयोजित की गई। इसमें मुख्य वक्ता एनपीएस  एम्प्लाइज फेडरेशन ऑफ़ राजस्थान के प्रांतीय सह संयोजक विनोद चौधरी ने कहा कि पेंशन बचाओं आन्दोलन सभी कर्मचारियों के पेट की लड़ाई का संघर्ष है जिसमें सबकी साँझा भूमिका होनी चाहिए। राजस्थान विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय शिक्षक संघ (रुक्टा) के प्रांतीय संयुक्त सचिव डॉ रमेश बैरवा ने कहा कि सरकार ने विदेशी दबाव में 2004 से एन.पी.एस की नीति लागू की है जो कि पूरी तरह शेयर मार्केट पर आधारित है। इस कारण कर्मचारियों की जमा पूंजी भी सुरक्षित नहीं रहेगी। कर्मचारी वर्ग में एनपीएस के खिलाफ गहरा असन्तोष व आक्रोश है।
राज्य बीमा एवं प्रावधायी विभाग के सत्येंद्र सिंह ने एनपीएस के तकनीकी पहलुओं के बारे में कहा कि राजस्थान में कर्मचारियों का लगभग 60 करोड़ रूपये मासिक एनएसडीएल को ट्रांसफर हो रहा है जिस पर कर्मचारियों को ब्याज भी नहीं मिलेगा तथा इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि कर्मचारियों को सेवानिवृत्ति के बाद मूलधन भी मिल जाये।
मीटिंग में आम सहमति से ज़िला संयोजक मंडल का गठन किया गया,जिसमें डॉ.रमेश बैरवा को संयोजक, हेमपाल सिंह जादौन,धारा सिंह चौधरी व कन्हैयालाल शर्मा को सह संयोजक चुना गया। संयोजक मंडल में चमन लाल कक्कड़, पुष्पराज शर्मा, सत्येंद्र सिंह, डॉ. भरत मीना, उमेश कुमार बिसराल, राजेश महिवाल, कुसुमलता शर्मा, देवेन्द्र टोनगड़िया, प्रदीप गाँधी,पंकज शर्मा और राहुल कुमार सैनी को सदस्य चुना गया। मीटिंग में पुष्पराज शर्मा, धारा सिंह चौधरी,हेमपाल सिंह जादौन, चमनलाल कक्कड़, डॉ.महेश गोठवाल,लक्ष्मण प्रसाद दीक्षित, उमेश कुमार बिसराल, प्रदीप गाँधी,राजेंद्र कुमार, कमलेश कुमार गुप्ता, धनीराम सुरैला आदि ने भी विचार व्यक्त कर आंदोलन का समर्थन किया।
मीटिंग में तय किया गया कि आगामी दिनों में एनपीएस के खिलाफ एवं पुरानी पेंशन योजना बहाल करने की मांग के लिए व्यापक आंदोलन किया जाएगा। इस कड़ी में जुलाई में कर्मचारियों का एक विशाल सम्मेलन बुला कर एनपीएस पर एक गहन बौद्धिक परिचर्चा एवं बड़े आंदोलन की रणनीति बनाई जाएगी। मीटिंग में गोपाल बैरवा,भौमकेश सैनी, टेकचंद सैनी, दिव्य जैन, विनोद,श्योप्रसाद बैरवा, विजय वर्मा, सुशील कुमार, सुरेश कुमार पालीवाल, लक्षमण सिंह,श्याम सुन्दर जाटव सहित अनेक कर्मचारी उपस्थित हुए। मीटिंग का संचालन रुक्टा प्रांतीय कार्यकारिणी सदस्य डॉ.भरत मीना ने किया।
– डॉ.भरत मीना

Leave A Reply

Your email address will not be published.