आम जन का मीडिया

भारत बंद के दौरान जगदीश कड़ेला पर हमला करने वाले पुलिस अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश

जोधपुर के पूर्व न्यासी जगदीश कड़ेला ने अपने अधिवक्ता के.एल.चौहान व एसोसिएट के मार्फत माननीय विशिष्ट न्यायाधीश अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण न्यायालय जोधपुर के समक्ष एक परिवाद इस आशय का पेश किया कि 2 अप्रेल को करीबन 4.30 बजे महावीर पार्क, कलेक्ट्रेट जोधपुर के ज्ञापन देने के पश्चात बैठा था.

इसी दौरान आपराधिक षड्यंत्र रचकर पुलिस अधिकारियों में सत्य प्रकाश बिश्नोई निरीक्षक, व विक्रम सिंह राणावत उपनिरीक्षक व कांस्टेबल रघुनाथ बिश्नोई, भंवरा राम बिश्रोई, मांगी लाल बिश्नोई, प्रदीप बिश्नोई व 8-10 अन्य पुलिस कर्मियों द्वारा मुझ पर जान से मारने की नीयत से हमला बोल दिया एवं लाठियों से भंयकर मारपीट कर लहूलुहान कर दिया, गाली गलौज व जाति सूचक शब्दों से अपमानित किया ।

बेहोशी की हालत पहले उदयमंदिर थाना पर ले जाकर बंधक बनाया व तत्पश्चात परिजनों द्वारा अनुनय विनय करने पर मथुरा दास माथुर अस्पताल लेकर गये । रात भर परिवादी I.C.U. ट्रोमा में भर्ती रहा व वर्तमान में जैर ईलाज है । मारपीट से संबंधित फोटोग्राफ्स व विडीयो पेश की गई ।

बाद बहस न्यायाधीश श्री मधुसूदन शर्मा ने पुलिस थाना उदयमंदिर को आदेशित किया कि तथाकथित पुलिस कर्मियों के खिलाफ अविलंब F.I.R. अन्तर्गत धारा 323,342,307,149,120 B, भा.द.स. एवं धारा 3 (1)(थ),(द),(ध),(प), (म), व धारा 4 अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत दर्ज कर अविलंब न्यायालय में रिपोर्ट पेश करें ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.