कमालुद्दीन के बेटे का कमाल !

दुबई एयरलाइंस कंपनी में सालाना 45 लाख की नौकरी  

419
( सुरेश मेघवंशी की विशेष रिपोर्ट )
ग्रामीण क्षेत्र से निकली प्रतिभा ने विदेशों में बढ़ाया मोड का निंबाहेड़ा कस्बे का मान  
कहते हैं कि अगर मन में कुछ कार्य करने व सफलता पाने के का जुनून हो तो सफलता आपके कदम चूमेगी . मोड का निंबाहेड़ा कस्बे के फ़ारूक़ मोहम्मद रंगरेज पर यह कहावत सटीक बैठ रही है . सरकारी विद्यालय से निकली प्रतिभा  विदेशों में भी कस्बे का मान बढ़ा रही है ,ताकि शहरी क्षेत्र के अलावा ग्रामीण युवा भी फ़ारूक़ मोहम्मद रंगरेज का अनुसरण कर सके .
आसींद तहसील के मोड़ का निंबाहेड़ा कस्बे में 24 जुलाई 1989 को सरकारी विद्यालय में अध्यापक कमालुद्दीन रंगरेज के घर जन्मे दो भाइयों में बड़़े पुत्र फारूक मोहम्मद रंगरेज ने भले ही एक साधारण परिवार में जन्म लिया हो ,लेकिन अपनी मेहनत व जुनून के बलबुते आज दुबई की प्रतिष्ठित एयरलाइंस कंपनी में लाखों रुपए के पैकेज पर नौकरी कर रहे हैं .
शुरू से ही कमालुद्दीन रंगरेज अपने पुत्र की लगन को देखते हुए विदेशों में भेजने की इच्छा रखते थे .पिता का निर्देशन व फ़ारूक़ मोहम्मद की लगन के कारण आज फारुक मोहम्मद  करीब 31 देशों में अपनी सेवाएं दे चुके हैं .कस्बे के ही राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में दसवीं तक पढ़े फ़ारूक़ मोहम्मद ने आसींद शहर में कक्षा 11 व 12 तक की पढ़ाई की. मात्र 21 वर्ष की  उम्र में ही फ़ारूक़ मोहम्मद ने  प्रथम देश दुबई की जमीन पर अपना कदम रखा ,फिर  जिंदगी के पथ पर पीछे मुड़कर नहीं देखा .लगातार अपने हौसले की उड़ान को जारी रखते हुए आज पूरा मोड का निंबाहेड़ा के ग्रामवासी अपने गांव के इस लाल पर गर्व महसूस करते हैं.
फ़ारूक़ मोहम्मद ने आसींद से कक्षा 12 तक की पढ़ाई के बाद भीलवाड़ा में Swift कॉलेज में 3 साल तक बीएससी आईटी करने के बाद उच्च शिक्षा के लिए ओरेकल (oracle ) यूनिवर्सिटी USA में कंप्यूटर इंजीनियरिंग में 1 वर्ष तक डिप्लोमा किया.
अध्ययन के दौरान ही फ़ारूक़ मोहम्मद की किस्मत दुबई की गवर्नमेंट एयरलाइंस fly emairts  की ओर खींच ले गई .वही सालाना 25लाख भारतीय मुद्रा के पैकेज पर कार्य करने लगे,लेकिन  मन में बड़ी कामयाबी हासिल करने की उम्मीद पाल रखी थी .किस्मत के धनी फारुख मोहम्मद उसी दौरान उनको एयरक्राफ्ट में मैनेजमेंट विभाग में अपना हुनर दिखाने का मौका मिला !
उनकी कार्य क्षमता एवं परिश्रम को देखते हुए कंपनी ने चीफ़ टेक्निकल इंजीनियर पद का जिम्मा सौंपा.इसी दौरान फ़ारूक़ मोहम्मद को अन्य देशों में भी कार्य का जिम्मा दिया और अब तक फ़ारूक़ मोहम्मद ने USA न्यूजीलैंड यूरोप मेक्सिको मलेशिया मॉरीशस दक्षिण अफ्रीका इंडोनेशिया श्रीलंका ऑस्ट्रेलिया फिजी सहित 31 देशों में कार्य कर चुके हैं .इसी दौरान फ़ारूक़ मोहम्मद को गोल्ड अवार्ड से भी नवाजा था.वे वर्तमान में ₹45 लाख के सालाना पैकेज पर कार्य कर रहे हैं ,वही फारूक मोहम्मद का सपना है कि मैं इसी कंपनी में एक और बड़ी कामयाबी हासिल करना चाहता हूं !
 फारूक मोहम्मद रंगरेज का कहना है कि -“अगर मन में कार्य करने का जज्बा है तो मंजिल दूर नहीं रहती, मन में सदैव सकारात्मक विचार से ही आगे बढ़ा जा सकता है. परिस्थितियां चाहे कैसी भी हो लेकिन ग्रामीण क्षेत्र के युवा भी इस कार्य में जुड़ सकते हैं .अगर ग्रामीण क्षेत्र की कोई भी प्रतिभा इस विभाग से संबंधित जानकारी लेना चाहे तो farookh123@gmail.com पर सलाह ले सकते हैं. मैं सदैव युवाओ के मार्गदर्शन के लिए तत्पर हूं “

Leave A Reply

Your email address will not be published.