पूर्व प्रधान उदाराम मेघवाल को सोशल मीडिया पर मिली धमकी, किया जातिगत शब्दो से अपमानित

146

दलित नेता को कर्नल का समर्थन करना पड़ा भारी
कोतवाली थाने में चार युवको के खिलाफ दर्ज कराया मामला

बाड़मेर, 18 अगस्त।बाड़मेर-जैसलमेर सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी पर हुए हमले के बाद गुरूवार को हरलाल जाट छात्रावास में आयोजित सभा में पहुंचे दलित नेता एवं अनुसूचित जाति-जनजाति एकता मंच के अध्यक्ष उदाराम मेघवाल को कर्नल का समर्थन करना भारी पड़ गया। सभा में दिए बयान का वीडियों यू ट्यूब पर अपलोड होने के बाद एक वर्ग विषेष के लोगो द्वारा उन पर जातिगत टिप्पणीया और गाली गलोच की गई। साथ ही उन्हे धमकी भी दी गई। इस मामले को लेकर पूर्व प्रधान एवं दलित नेता उदाराम मेघवाल सहित दर्जनों लोग शुक्रवार को कोतवाली थाने पहुंचे एवं दो युवको के खिलाफ आईटी एक्ट, एससी एसटी एक्ट एवं धमकाने का मामला दर्ज कराया।

कोतवाली थाने में उदाराम मेघवाल पुत्र होथीराम मेघवाल निवासी देदड़ियार हाल अम्बेडकर कॉलोनी ने दो अलग-अलग रिपोर्ट दी गई जिसमें बताया गया कि वह 16 अगस्त को जाट समाज के बुलावे पर हरलाल जाट छात्रावास में आयोजित बैठक में भाग लेने गए थे एवं वहां पर सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी पर हुए हमले की निन्दा उनके द्वारा की गई थी। उनके इस बयान का वीडियों यू ट्यूब पर अपलोड होने पर हरीसिंह राठोड़ व नरेन्द्रसिंह, माही सिंह नाम के चार युवको द्वारा उनको जातिसूचक शब्दों से अपमानित करते हुए गाली गलोच की। साथ ही धमकी भी दी जिससे उनकी प्रतिष्ठा को ठेस पहुंची एवं मान हानि हुई।

इस रिपोर्ट पर कोतवाली थाने में दोनो युवको के खिलाफ एससी एसटी एक्ट की धारा, आईटी एक्ट की धारा के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू की गई हैं।

दलित समाज में आक्रोश
अनुसूचित जाति-जन जाति एकता मंच के अध्यक्ष उदाराम मेघवाल के खिलाफ सोशल मीडिया पर एक जाति विशेष के लोगो द्वारा की गई जातिगत टिप्पणी, गाली गलोच एवं धमकी देने के मामले को लेकर पूरे समाज में आक्रोश बना हुआ हैं। शुक्रवार को कोतवाली थाने पहुंचे समाज के दर्जनों लोगो ने पुलिस ने इस मामले में जल्द से जल्द आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की।

यह है पूरा मामला
जानकारी के मुताबिक पूर्व प्रधान उदाराम मेघवाल 16 अगस्त को सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी पर हुए जानलेवा हमले के विरोध में आयोजित सभा में जाट समाज के बुलावे पर हरलाल जाट छात्रावास में गए थे। इससे एक जाति विशष के कुछ लोग उनसे नाराज हो गए एवं उनके सोशल मीडिया पर आए वीडियों पर जातिगत टिप्पणीया की गई।

(व्हाट्सएप पर प्राप्त जानकारी )

Leave A Reply

Your email address will not be published.