क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के 230 पुरूष और महिला खिलाड़ी हुऐ बेरोजगार

535

आस्ट्रेलिया की टीम चैंपियंस ट्रॉफी में कुछ खास नहीं कर सकी लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों ने पिछले काफी महीनों में जबर्दस्त प्रदर्शन किया है. स्टीव स्मिथ की कप्तानी में आस्ट्रेलिया कई देशों में जबर्दस्त प्रदर्शन कर चुकी है, लेकिन इसके बावजूद भी खिलाड़ियों को बोर्ड से मैच फीस बढ़ाने की गुहार लगानी पड़ रही है. लेकिन बोर्ड ने खिलाड़ियों की बात को अनसुना करके इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी . हालांकि अब क्रिकेट आस्ट्रेलिया के सीईओ जेम्स सदरलैंड ने इस मामले में दखल देते हुए कहा है कि खिलाड़ियों के वेतन में किसी भी तरह का बदलाव न होने के संकेत दिए हैं.

पूर्व टेस्ट विकेटकीपर डायर ने बीबीसी हिंदी से बात करते हुए कहा था – ‘क़रार की बुनियादी बातें अभी तय होने के बिल्कुल आस-पास नहीं हैं.’डायर ने कहा, ‘हम जो कर सकते हैं, करने की कोशिश करेंगे. लेकिन वे बेरोज़गार हैं.’

यह है पूरा मामला –

आस्ट्रेलिया क्रिकेट ने 20 साल पुराना रेवेन्यू मॉडल खत्म करने का फैसला लिया है. इसके साथ ही खिलाड़ियों को नए तरीके से वेतन देने का प्रस्ताव भी जारी किया है, जो कि खिलाड़ियों के वेतन का नुकसान करेगा. इसलिए क्रिकेटर्स एसोसियेशन खिलाड़ियों की मांग को लेकर अड़ गया है, लेकिन क्रिकेट आस्ट्रेलिया अभी किसी भी तरह से वेतन न बढ़ाने या समझौता करने की स्थिति में नजर आ रहा है. हालांकि अब यह देखना दिलचस्प होगा कि क्रिकेट आस्ट्रेलिया किस तरह खिलाड़ियों को आगामी मैच के लिए राजी करती है.

दरअसल 30 जून को क्रिकेट आस्ट्रेलिया और आस्ट्रेलिया क्रिकेटर्स एसोसियेशन के बीच का करार खत्म हो गया है. इस करार के तहत करीब 230 खिलाड़ियों को क्रिकेट आस्ट्रेलिया वेतन दिया करता था, लेकिन अब यह सभी खिलाड़ी बेरोजगार हो गए हैं. इसलिए टीम के खिलाड़ियों ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ होने वाले आगामी मैच का बहिष्कार करने की धमकी दी है.

(साभार बीबीसी हिंदी ,प्रस्तुति- ललित मेघवंशी ,खेल संवाददाता )

Leave A Reply

Your email address will not be published.