कॉलेज प्रशासन की हठधर्मिता से व्याख्याता परेशान !

95
वीवी राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय जालोर की पिछले कई सालों से लंबित एवं कॉलेज तथा जिला प्रशासन द्वारा आश्वस्तित मांगो को लेकर आज कलेक्ट्रेट के सामने हम कॉलेजियेट्स के संयुक्त मोर्चे ने भूख हड़ताल शुरू की हैं।
आंदोलन का क्रम कई सालों से चला आ रहा हैं। हर बार कॉलेज और प्रशासन आश्वसन देकर उठा देते थे पर समस्या सुलझने के बजाय बढ़ती ही गयी हैं।
आश्वासनों से पक चुके हैं।अब हमने ठान लिया हैं; न तो झूठे बहकावे में आएंगे और न ही मांगे माने जाने तक उठेंगे।
एक तरह हमने भुख हड़ताल जैसे ही शुरु की तब कॉलेज प्राचार्य ने व्याख्यता ललित कुमार जी के प्रति षड़यंत्र रचना प्रारम्भ कर दिया तब सर का अचानक #ब्लड_हाईप्रेशर को गया तब हम सब छात्रो ने उनके राजकीय चिकित्सालय जालोर की आईसीयू वार्ड में भर्ती करवाया अभी तक स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं हो रहा है इस पूरे घटनाक्रम में कुछ शिक्षको का भी हाथ नजर आ रहा है कॉलेज के हर छात्र के मदद करने वाले ललितजी सर को कुछ हो गया तो हम कॉलेज प्रशासन की ईंट बजा देंगे.
तरस आता हैं सरकारी तंत्र और मंशा पर कि एक तरफ तो शिक्षा को बढ़ावा देने को ढोल पिट रहे है एक ओर जिले के मुख्य महाविद्यालय के हालातों बदतर करते जा रहे हैं। बहुत लंबे समय से व्याख्याताओं के पद रिक्त पड़े हैं, हर साल हम छात्र मांग करते आ रहे हैं; पद भरने के बजाय लगे हुए व्याख्याताओं का भी स्थानांतरण कर रहे हैं।
तमाम छात्र शक्ति से निवेदन है कि कल अधिकाधिक संख्या में कलेक्ट्रेट के बाहर भूख हड़ताल में बैठे साथियो का सहयोग करे ओर जायज मांगो के लिए इस लड़ाई को लड़े। मुख्य मांगे जो शीघ्र पूरी की जानी चाहिए-
1.व्याख्याताओं के सभी पद भरे जाएँ।
2.हिंदी व्याख्याता के स्थानांतरण को तुरंत प्रभाव से निरस्त किया जाएँ।
3.महाविद्यालयी छात्रावास को शुरू किया जाएँ।
4.महाविद्यालय परिसर में पुलिस चौकी स्थापित की जाएँ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.