Browsing Category

राजनीति

राजस्थान के दलितों को अपनी रक्षा खुद ही करनी होगी !

- भँवर मेघवंशी नागौर जिले के करणू गांव में दो दलित युवाओं के साथ जिस तरह से क्रूर,निर्मम व भयानक अत्याचार किया गया है,उसको लेकर मुझे कुछ बातें कहनी है ............ 1- मत भूलिये कि नागौर जिला लंबे समय से क्रूरतम दलित

दिल्ली विधानसभा चुनाव “संयोग” नहीं, “काम” का प्रयोग है !

-  चंद्र भूषणदिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) की "हैट्रिक" परंपरागत राजनीति के मिथक को तोड़ने वाला साबित हुआ है। काम के बल पर और सकारात्मक (पॉजिटिव) राजनीति के बूते चुनाव जीतना शायद आजाद भारत में यह पहली घटना है। इसे यूं  कह

राजस्थान में अनुसूचित जाति व जनजाति उपयोजनाओं पर कानून बनाने की मांग ने जोर पकड़ा

4 फरवरी, 2020-राजस्थान में अनुसूचित जाति व जनजाति उपयोजनाओं पर कानून बनाने की आवश्यकता पर बजट अध्ययन एवं अनुसंधान केन्द्र (BARC), सूचना एवं रोजगार अधिकार अभियान (SR Abhiyan), दलित अधिकार केन्द्र (CDR), अखिल भारतीय

जानबूझकर कम बजट आवंटित कर मनरेगा को कमजोर कर रही है मोदी सरकार- शंकर सिंह

3 फरवरी, 2020, भीम (राजसमंद) आज महात्मा गाँधी नरेगा के 14 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर राजसमंद जिले की भीम पंचायत समिति के सामने प्रदर्शन किया गया और उससे पहले मनरेगा मजदूरों ने पूरे भीम शहर में रैली निकाली. रैली में मजदूरों ने बड़ी तादाद

केन्द्रीय सत्ता ने विश्वविद्यालयों के खिलाफ युद्ध छेड़ रखा हैं- मेघवंशी

सार्वजनिक शिक्षा व्यवस्था बचाने के लिये एकजुट हो विद्यार्थी -डॉ. विक्रमसिंह वर्तमान दौर में उच्च शिक्षा के समक्ष चुनौतियाँ एवं उसके समाधान" विषय सेमिनार सम्पन्न जोधपुर 17 जनवरी। स्टूडेंट्स फैडरेशन ऑफ इण्डिया (एसएफआई) के आव्हान् पर

वर्तमान दौर में उच्च शिक्षा के समक्ष चुनौतियाँ एवं उसके समाधान” विषय सेमिनार शुक्रवार को…

(जोधपुर 16 जनवरी,2020) स्टूडेंट्स फैडरेशन ऑफ इंडिया (एस.एफ.आई) के आह्वान पर 11 जनवरी से "शिक्षा बचाओ-देश बचाओ अभियान" चलाया जा रहा हैं,  इस अभियान के तहत देश भर में बढते "संस्थागत-हत्या" के मामलों पर फोकस करते हुए "रोहित वेमूला यादगार

कन्हैया कुमार की अगुवाई में हजारों लोगों ने किया एनआरसी और कैब का विरोध।

एनआरसी कैब विरोधी संयुक्त मोर्चा ने किया था सड़कों पर उतरने का आह्वान 16 दिसम्बर, 2019 पूर्णियां , एनआरसी कैब विरोधी संयुक्त मोर्चा द्वारा आयोजित सभा और रैली में 50 हजार से अधिक संख्या में लोग सड़कों पर उतरे. सभा रेनू उद्द्यान में हुई

यह काम कर सकते हैं राहुल !

( विष्णु बैरागी )लगा था कि हरियाणा और महाराष्ट्र के चुनावी परिणामों के बाद राहुल गाँधी समाचारों-समीक्षाओं के केन्द्र में आ जाएँगे। शुरुआती दो-तीन दिनों तक ऐसा हुआ भी लेकिन दोनों राज्यों में सरकारें बनाने को लेकर हुई उठापटक ने राहुल गाँधी

बहुजनों में कल्चरल कैपिटल का अभाव है !

(दिलीप मंडल )आग का दरिया है ये. यहां आपकी सबसे बड़ी समस्या तो ये है कि आप चाहे अपने यूनिवर्सिटी के टॉपर हों. आपकी किताबें या चैप्टर ऑक्सफोर्ड में छपे हों, आप बेहतरीन लिखते हों, लेकिन आपका टाइटल ठीक नहीं है तो आपको बुद्धिजीवी नहीं माना

ट्विटर का नज़रिया बहुजन विरोधी क्यों है ?

(दिलीप मंडल की मनीष माहेश्वरी को खुली चिटठी )प्रिय मनीष माहेश्वरी,मैनेजिंग डायरेक्टर, ट्विटर इंडिया.जय भीम, जय भारतभारत में जिस समय लोकसभा चुनाव चल रहे थे, उस दौरान आपको ट्विटर इंडिया का मैनेजिंग डायरेक्टर बनाया गया. कृपया मेरी विलंब से दी