Browsing Category

स्पेशल रिपोर्ट

सरपंच बनने के लिये शेड्यूल कास्ट बन गया एक गुर्जर परिवार !

( भंवर मेघवंशी )राजस्थान के अन्य हिस्सों के गुर्जर लोग आरक्षण का फ़ायदा लेने के लिए आंदोलन की राह पर हैं , मगर भीलवाड़ा ज़िले की आसीन्द तहसील की बोरेला ग्राम पंचायत के जोधा का खेड़ा गाँव का हरदेव गुर्जर चुपचाप , बिना कोई शोर शराबा किये

कोविड-19 : एक जैविक हथियार, जो वुहान के बीएसएल 4 लैब से लीक हुआ

प्रोफेसर फ्रांसिस ए. बॉयल नमस्ते!शांतिकामी जनों की इस उत्कृष्ट सभा में आपने मुझे अपनी बात रखने के लिए आमंत्रित किया इसके लिए बहुत-बहुत धन्यवाद। शांति के इस उद्देश्य को मैंने अपने जीवन के पिछले पांच दशक दिए हैं। 1989

‘नक्सली भाभी’ का सच !

( भंवर मेघवंशी )उत्तरप्रदेश के हाथरस ज़िले के बोलगढ़ी गाँव में एक दलित बालिका के साथ हुई हैवानियत और उसके बाद राज्य प्रायोजित अमानवीयता के घटना क्रम से सारा देश वाक़िफ़ है . जिसने भी इस दरिदंगी के बारे में सुना है , उनकी पीड़ितों के

जाति का अनुभव !

( विकास जाटव ) कई बार समूह चर्चा में यह सुनने को मिल जाता है की अब दलित राष्ट्रपति, सुप्रीम कोर्ट के जज, प्रशासनिक अधिकारी, से लेकर काफी उच्च पद प्राप्त कर चुके है. इसलिए अब जातिवाद खत्म हो रहा है. समय बदल चूका है. लेकिन अगर कोई दलित

टिकटॉक को टक्कर देगा देसी हिटहॉक !

नई दिल्ली: 16 से ज़्यादा भाषाओं में हुआ लॉन्चभोजपुरी, मैथिली, पंजाबी, मराठी, गुजराती, सिंधी, उर्दू, तेलगू, कन्नड़, मलयाली और तमिल भाषा में उपलब्ध सुरेंद्र ग्रोवर ने बनाया है हिट हॉक गूगल प्ले स्टोर पर अपडेटेड ऐप उपलब्ध पूरे देश में

अररिया गैंग रेप पीडिता के दो सहयोगी तन्मय और कल्याणी जेल से रिहा

( सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जेल भेजने का आर्डर नाजायज ) अररिया, 6 अगस्त, 2020 , अररिया गैंग रेप पीडिता के दो सहयोगी तन्मय और कल्याणी को पच्चीस दिनों की हिरासत के बाद कल रात जेल से रिहा कर दिया गया .  दोनों सकुशल अपने निवास स्थान अररिया

घरों को मकानों में तब्दील कर रही है महिलाओं के साथ बढ़ती घरेलू हिंसा

( महिलाओं के साथ होने वाली घरेलू हिंसा का विश्लेषण करता महत्वपूर्ण आलेख ) ( हेमलता शर्मा ) लॉकडाउन के समय में लगभग पूरी दुनिया में महिलाओं के साथ घरेलू हिंसा ज्यादा बढ़ी है,कोरोना काल ने महिलाओं के सामान्य जीवन पर बहुत गहरा असर डाला

जम्मू कश्मीर के दलित शहीद : भगत अमरनाथ !

( प्रवीण कुमार अवर्ण ) शहीद भगत अमरनाथ जी का जन्म, सन् 1928 बटोत के नजदीक, एक छोटे से गाँव चम्पा, तहसील और जिला रामबन में हुआ था. इनके पिताजी का नाम श्री मोती राम और माताजी का नाम श्रीमती जानकी देवी था. भगत अमरनाथ जी ने अपनी आठवीं तक की

बाबरी मस्जिद, रामजन्मभूमि और बौद्ध पुरावशेष !

-राम पुनियानी इस समय देश में तालाबंदी है. कारखाने बंद हैं, निर्माण कार्य बंद हैं और व्यापार-व्यवसाय बंद हैं. परन्तु अयोध्या में राममंदिर का निर्माण चल रहा है. इसकी राह उच्चतम न्यायालय ने प्रशस्त की थी. अदालत के इस निर्णय पर समुचित बहस

क्या मास्क लगाना इतना जरूरी है ?

(स्कंद शुक्ला)"मास्क पहनना इसलिए ज़रूरी है क्योंकि परहित से बड़ा कोई 'पुण्य' नहीं और परपीड़ा से बड़ा 'पाप' !" हमारी बातचीत इसपर ख़त्म हुई थी। लॉकडाउन के दौरान भी वह आवश्यक काम से बाहर निकलते हुए जब-तब मास्क लगाना नज़रअंदाज़ कर रहा था।