आम जन का मीडिया
Browsing Category

नज़रिया

क्रांतिकारी जय भीम कहने से दलित राजनीति के धुरंधर खफा क्यों हैं ?

सवाल यह है कि आखिर जय भीम के अभिवादन को 'क्रांतिकारी जय भीम' में बदलने से दलित राजनीति के धुरंधर खफा क्यों हैं ?…

स्त्री यौनिकता !

स्त्री यौनिकता पर सत्र था, मौक़ा था यूरोप, एशिया और अफ्रीका में परिवार व्यवस्था में आ रहे बदलाव पर एक कार्यशाला.…

डर एक रंग का

मेरी सब मानवता प्रेमियों से, जो बिना किसी हिंसा के संविधान के मूल्यों को ध्यान में रखते हुए आगे बढ़ना चाहते है,उनसे…