आम जन का मीडिया
Browsing Category

नज़रिया

ये मैंने कब कहा !

साल भर से ज़्यादा हो गया जब मेरे नाम से यह फ़र्ज़ी बयान चला था। हमने उस समय भी कहा था कि मैंने नहीं कहा है। अब आप…