लोरड़ी में भीम विचारधारा गोष्ठी संपन्न

भविष्य में कभी भी यज्ञ न करेंगे और न यज्ञ के नाम पर साथ देंगे !

222

लोरड़ी(दूदू ) 21 जनवरी को तहसील क्षेत्र के लोरड़ी गाँव में डॉ भीमराव अम्बेडकर सामाजिक विकास संस्था राजस्थान(रजि.) की ओर से भीम विचारधारा गोष्ठी का आयोजन किया गया . प्रदेश सलाहकार रवींद्र अनार्य व एड़वोकेट राजेंद्र प्रसाद आकोदिया ने बताया कि संस्था के प्रदेशाध्यक्ष बुद्धिप्रकाश झाड़ला व संस्थापक त्रिलोकराज बेनीवाल लोरड़ी के निर्देशन में लोरड़ी में आगामी 27 मार्च को आयोजित होने जा रहे यज्ञ को लेकर विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसमें निम्न बिंदुओं पर संस्था औरयज्ञ समिति के बीच सहमति बनी – यज्ञ मे ब्राह्मण पंडित नहीं आएगा, केवल समाज के बुद्धिजीवी होंगे.कम से कम खर्च किया जाएगा ओर कार्यक्रम को बड़ा रूप नहीं दिया जाएगा. गाँव में बाकी बचे चंदे से बाबा साहेब डॉ भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा लगायी जाएगी.भविष्य में कभी भी यज्ञ न करेंगे और न यज्ञ के नाम पर साथ देंगे.चंदा अधिक बचेगा तो दूदू मे छात्रावास खोला जाएगा और बाबा साहेब की प्रतिमा लगाई जाएगी.

भीम विचार गोष्ठी में संस्था के प्रदेश कोषाध्यक्ष बृजमोहन बेनीवाल, प्रदेश उपाध्यक्ष कमलेश वाल्मीकि, टोंक जिलाध्यक्ष सुरेश कोरवाल,सह संयोजक शंकर लाल, प्रदेश कार्यालय प्रभारी नरेश बैरवा, मालपुरा प्रभारी नोरत मल रैगर,फागी प्रभारी अविनाश झुंझ, कवि सुरेंद्र दीपक सवाईमाधोपुर, दिनेश कमांडो भीलवाड़ा, विनोद बैरवा पुलिस (मंडोर ), विजय गंगवाल चकवाड़ा सहित संस्था की क्षेत्रीय कार्यकारिणी व सैकड़ों भीम अनुयायी उपस्थित रहे .

भीम विचारधारा गोष्ठी को लेकर सभी वक्ताओं ने ग्रामीणों को बाबा साहेब की विचारधारा व मिशन के बारे में जानकारी दी l ग्रामीणों ने भविष्य में समाज के पैसों को शिक्षा व भीम मिशन पर व्यय करने की शपथ ली कि जो नकली भीम सैनिक व समाज के संगठनो के नाम की दुकानें खोलकर बैठे हैं, वो लोग फेसबुक और व्हाट्सएप पर लाइक ओर कमेंट खेलते हैं ,वो आज भीम मिशन में आगे नहीं आ सके और कोई भी अन्य सामाजिक संगठन व संस्थाये लोरड़ी नहीं आ सकी इसका मतलब यह है कि वो लोग कहते कुछ और है और करते कुछ और है. जमीनी स्तर पर कुछ नहीं बस फालतू की फोटू व बाते सोशल मीडिया पर पेलते रहते हैं.अंत में सभी ग्रामीणों ने डॉ भीमराव अम्बेडकर सामाजिक विकास संस्था राजस्थान के कार्यो व मिशन पर काम कर रहे कार्यकर्ताओं को सराहा व भविष्य में बाबा साहेब की विचारधारा को अपनाने व मिशन पर कार्य करने की बात कही .

Leave A Reply

Your email address will not be published.