सार्थक रहा बहुजन समन्वयन सम्मलेन !

338
24 सितम्बर 2017 को नई दिल्ली स्थित मावलंकर हॉल में आयोजित ”राष्ट्रीय बहुजन समन्वय सम्मलेन” कई अर्थों में सार्थक और जरूरी आयोजन लगा। इसमें देश के अलग-अलग हिस्सों से आए प्रतिनिधियों ने आंदोलन और मिशन से जुड़े अपने अनुभव और दिक्कतें सुनाईं।
इस आयोजन की सबसे अच्छी बात यह रही कि इसमें ज्यादा-से-ज्यादा नौजवानों को अपनी बात कहने का मौक़ा दिया गया और जितने प्रतिनिधि वहां उपस्थित हुए थे, सभी को समय और अवसर दिया गया। कार्यक्रम काफी व्यवस्थित ढंग से अपनी सोद्धेश्यता की तरफ अग्रसर रहा। पूरे आयोजन में सबकी चिंता के केंद्र में यही बात रही कि बहुजन समाज इस समय संकट के दौर से गुजर रहा है और इससे पार पाने के लिए हम सबको साथ मिलकर कुछ ठोस कार्य योजनाएं बनाकर उन्हें राष्ट्रव्यापी स्तर पर अमल में लाना होगा।
2019 के चुनाव को हमें बहुत गंभीरतापूर्वक लेना होगा, क्योंकि वह बहुजन समाज के लिए निर्णायक साबित होगा। इस सम्मलेन को देश के अलग-अलग राज्यों में आयोजित करने की जरूरत बताई गई। अगला आयोजन पंजाब में होने की विधिवत घोषणा भी मंच से कर दी गई।
इस कार्यक्रम में माननीय शरद यादव जी, जेएनयू के प्रोफ़ेसर एसएन मालाकार सर, सांसद अली अनवर साहब, एचएल दुसाध, एके विश्वास, प्रेम कुमार मणि, हरिकेश्वर राम, हेमलता महीश्वर, अशोक भारती, डॉ लाल रत्नाकर, रजनी तिलक, कुमार अनिल तथा शालिनी आर्या लाल समेत तमाम गणमान्य लोगों ने अपनी विचार रखे। इस पूरे आयोजन का संयोजन डॉ रतन लाल और डॉ एसएन गौतम ने किया.
 – सुनील कुमार सुमन
( जाने माने बहुजन चिंतक )

Leave A Reply

Your email address will not be published.