अनवर खान सहित राजस्थान की पांच हस्तियां पद्म श्री से सम्मानित

71 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारत सरकार ने वर्ष 2020 के लिए पदम् पुरस्कारों से सम्मानित होने वाली हस्तियों के नामों की घोषणा की गई थी. इस वर्ष राजस्थान की पांच हस्तियों को पद्म श्री से राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित किया गया । इनमें सामाजिक

सत्य और संघर्ष से बनी व्यास की आत्मकथा

-डॉ विशाल विक्रम सिंह जयपुर। कथेतर लेखन अब भारतीय साहित्य की मुख्य धारा है जिसमें हमारे युग की सच्चाई बोल रही है। कवि-लेखक डॉ सत्यनारायण व्यास की आत्मकथा 'क्या कहूं आज' केवल साधारण मनुष्य की सच्चाई और संघर्ष की दास्तान नहीं है

केन्द्रीय सत्ता ने विश्वविद्यालयों के खिलाफ युद्ध छेड़ रखा हैं- मेघवंशी

सार्वजनिक शिक्षा व्यवस्था बचाने के लिये एकजुट हो विद्यार्थी -डॉ. विक्रमसिंह वर्तमान दौर में उच्च शिक्षा के समक्ष चुनौतियाँ एवं उसके समाधान" विषय सेमिनार सम्पन्न जोधपुर 17 जनवरी। स्टूडेंट्स फैडरेशन ऑफ इण्डिया (एसएफआई) के आव्हान् पर

संसार का एक अजूबा है म्यांमार के बागान शहर के हजारों प्राचीन बौद्ध स्तूप

(डॉ.एम.एल.परिहार)आज यह यूनेस्को की विश्व धरोहर है जिसे देख कर एकाएक यकीन नहीं होता कि वास्तुकला का यह अजूबा इसी धरती पर है. म्यांमार के इरावती नदी के किनारे लगभग 45 वर्ग किलोमीटर में फैले लगभग चार हजार प्राचीन विशाल बौद्ध स्तूप आज दुनिया

मैं बस खाली हो गया हूं….रोहित वेमुला का आख़िरी ख़त

आज रोहित वेमुला का शहादत दिवस है. रोहित वेमुला हैदराबाद विश्वविद्यालय में पीएचडी छात्र थे जिन्होंने 17 जनवरी 2016 को आत्महत्या कर ली थी. रोहित और उसके कुछ साथियों को इससे कुछ दिन पहले हॉस्टल से निकाल दिया गया था. रोहित ने अपनी मौत से

वर्तमान दौर में उच्च शिक्षा के समक्ष चुनौतियाँ एवं उसके समाधान” विषय सेमिनार शुक्रवार को…

(जोधपुर 16 जनवरी,2020) स्टूडेंट्स फैडरेशन ऑफ इंडिया (एस.एफ.आई) के आह्वान पर 11 जनवरी से "शिक्षा बचाओ-देश बचाओ अभियान" चलाया जा रहा हैं,  इस अभियान के तहत देश भर में बढते "संस्थागत-हत्या" के मामलों पर फोकस करते हुए "रोहित वेमूला यादगार

रोहित वेमुला की तरह भंवर मेघवंशी भी सांस्थानिक हत्या का शिकार होते होते बचे !

( हिमांशु पण्ड्या )"मेरी कहानियां, मेरे परिवार की कहानियां – वे भारत में कहानियां थी ही नहीं. वो तो ज़िंदगी थी.जब नए मुल्क में मेरे नए दोस्त बने, तब ही यह हुआ कि मेरे परिवार के साथ जो हुआ, जो हमने किया, वो कहानियां बनीं. कहानियां जो लिखी

मेरे भैया गए है रंगून, वहां से किया है टेलिफुन, धम्म की बात बताते है !

साथियों, इन दिनों मैं म्यांमार (बर्मा) की धम्म यात्रा पर हूं.धम्म की गौरवशाली संस्कृति को संजोए रखने वाले इस देश का इतिहास व वर्तमान बहुत रोचक है. सन् 1200 से 1800 के बीच जब भारत से बौद्ध धर्म को नष्ट कर जमीन में दफनाया जा रहा था उस काल में…

‘हिन्दुत्व राजनीती एवं बहुजन’ विषय पर बौद्धिक चर्चा एवं पुस्तक लोकार्पण !

राजस्थान में हिन्दुत्व राजनीति के बढते खतरों के मध्य इस विषय पर एक परिचर्चा एवं आर.एस.एस. के पूर्व स्वयंसेवक द्वारा लिखित पुस्तक का लोकार्पण पी.यू.सी.एल. राजस्थान द्वारा 18 जनवरी 2020 को प्रौढ शिक्षा समिति,झालाना

अब दीपिका पादुकोण पंहुची JNU !

(7 जनवरी 2020) जेएनयू परिसर में रविवार रात लाठियों और लोहे की छड़ों से लैस कुछ नकाबपोश लोगों ने परिसर में प्रवेश कर छात्रों तथा शिक्षकों पर हमला किया जिसका देशभर में विरोध हो रहा है . जेएनयू में रविवार को हुई हिंसा की घटना के बाद साबरमती