आम जन का मीडिया
Arrested attacker of Dalit RTI activist!

दलित आरटीआई कार्यकर्ता के हमलावर गिरफ्तार !

-सुमन देवठिया

दलित कार्यकर्ता सुखाराम द्वारा शिकायत करने व भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने पर वर्तमान सरपंच के पुत्र सहित अन्य आरोपियो ने कार्यकर्ता दलित सुखाराम का अपहरण कर किया था प्राणघातक हमला.गाँव रोड़ा पुलिस थाना नोखा जिला बीकानेर के दलित पिडित सुखा राम को नरेगा कार्य के तहत पशुसेड कार्य स्वीकृत हुआ था, जिसका सरपंच द्वारा पूरा भुगतान नहीं किये जाने पर पीड़ित द्वारा पैसा भुगतान किए जाने की माँग की गयी, साथ ही शैड के लिए आने वाले मैटेरियल की घटिया सामग्री में सुधार लाने की बात कही.

पीड़ित द्वारा बार बार इन माँगो की मांग करने पर भी सरपंच द्वारा कोई सुनवाई नहीं की गई जिस पर पिडित ने आरोपी सरपंच द्वारा की जा रही लापरवाही और भ्रष्टाचार की शिकायत की और सुचना का अधिकार कानून के तहत सुचना मांगी,इसी बात की रंजिश निकालने और सबक सिखाने की नियत से 1 फ़रवरी 2018 को वर्तमान सरपंच के पुत्र सहित अन्य सहयोगी आरोपियो द्वारा अपहरण कर पिडित सुखाराम को 7-8 किमी दूर ले जाकर हथियारो से जानलेवा हमला कर दोनों हाथ और पैरों को तोड़ दिये और मृत समझ कर छोड़ गये, जिसका इलाज हेतु अस्पताल मे भर्ती रहना पड़ा.

9 फ़रवरी 2018 को पीड़ित ने अपने साथ हुए गम्भीर घटना को शिक्षा व सुचना का अधिकार अभियान की बैठक मे सभी कार्यकर्ताओ के साथ साँझा कर न्याय हेतु मदद मांगी, पिडित कार्यकर्ता सुखाराम की हालत देख कर किसी का भी दिल दहल जाने वाली भयानक स्थिति प्रत्यक्ष रूप से झलक रही थी लेकिन स्थानीय पुलिस को पता नहीं क्यों दिखाई नहीं दे रही थी, जिसकी वजह से आरोपियो को गिरफ़्तार नहीं किया.

बैठक मे मौजूद सभी साथियों ने प्रकरण को गम्भीरता से लिया और तय किया कि हमे जयपुर मे पुलिस के उच्च अधिकारियो से मिल कर कार्यवाही की मांग करनी चाहिए, इसलिए तुरंत ही पीड़ित व उनके सहयोगियो के साथ शिक्षा व सुचना का अधिकार अभियान के मुकेश निर्वासित व आल इंडिया दलित महिला अधिकार मंच की राज्य समन्वयक सुमन देवठिया, आई जी पर्सनल व एडीजीपी सिविल राईट्स महोदय राजस्थान से मिल कर आरोपियो की गिरफ्तारी व पिडित की सुरक्षा की माँग की गयी जिस पर दोनों अधिकारियो ने प्रकरण को गम्भीरता से लेते हुए एस पी बीकानेर को तुरंत कार्यवाही करने के निर्देश दिए.

उपरोक्त दोनों अधिकारी से मिलने पर ये राहत मिली कि अभी तक 4 अपराधियों को गिरफ़्तार किया जा चुका है, साथ ही नरेगा में किए गए घोटाले की जल्दी ही जाँच पूरी करने का बीडीओ व तहसीलदार द्वारा आश्वासन दिया गया है,उम्मीद है कि इस प्रकरण मे पीड़ित दलित सक्रिय कार्यकर्ता को हर प्रकार से न्याय मिलेगा, हम सब इस न्याय की लड़ाई के साथ है,

9 फ़रवरी 2018 को प्रकाश मे आते ही शून्यकाल न्यूज चैनल के माध्यम से पीड़ित को न्याय दिलाने हेतु आवाज उठायी और शिक्षा व सुचना का अधिकार अभियान द्वारा आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान भी उठाया गया था, जिससे पीड़ित को न्याय मिलने मे मदद मिली है, इसके लिए शून्यकाल के सम्पादक भंवर मेघवन्शी व शिक्षा व सुचना का अधिकार अभियान की पुरी टीम का शुक्रिया जिन्होंने न्याय हेतु दबाव बनाया,मुझे पूरा विश्वास है कि हम इसी तरह मिलजुल कर आवाज उठाते रहेंगे और न्याय हेतु अपनी आवाज बुलंद करते रहेंगे,

Leave A Reply

Your email address will not be published.