मोड़ का निम्बाहेड़ा कस्बे में अंबेडकर जयंती पर शोभायात्रा का आयोजन !

- सुरेश मेघवंशी ,करजालिया

186

संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की 127 वी जयंती के उपलक्ष में ग्रामीण क्षेत्रों में भी जगह दलित संगठनों द्वारा जयंती धूमधाम से मनाई गई .कालियास करजालिया बरसनी केरीया आमेसर शंभूगढ़ सहित ब्राह्मणों की सरेरी क्षेत्र के मोड का निंबाहेड़ा कस्बे में दलित आदिवासी एवं घुमंतू अधिकार अभियान डगर द्वारा तहसील स्तरीय अंबेडकर जयंती का आयोजन किया गया !
सुबह 8:00 बजे से रेगर मोहल्ला मोड का निंबाहेड़ा से विशाल शोभायात्रा एवं वाहन रैली का निकाली गई.जो बस स्टैंड मुख्य बाजार रावो का मंदिर मस्जिद मोहल्ला खटीक मोहल्ला बालाजी मंदिर से गुजरते हुए ब्यावर भीलवाड़ा रोड पर स्थित बाबा रामदेव मंदिर पर जाकर संपन्न हुई.

इस दौरान पूरे कस्बे को नीली झंडियों से सजाया गया एवं शोभायात्रा में युवा जय भीम के नारे लगाते हुए चल रहे थे .सैकड़ों की संख्या में महिलाओं ने भी बड़ी संख्या में भाग लिया .

बाबा रामदेव मंदिर पर विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया.इस दौरान मुख्य अतिथि मोड का निंबाड़ा पूर्व सरपंच नेमीचंद खटीक ने संबोधित करते हुए कहा कि डॉक्टर भीमराव अंबेडकर ने जीवन भर दलितों के लिए संघर्ष किया.छुआछूत के खिलाफ अभियान चलाया.आज डॉक्टर भीमराव अंबेडकर जयंती भारत ही नहीं विदेशों में भी मनाई जाती है.

दलित समाज के प्रेरणास्रोत डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के आदर्शों पर चलने का संकल्प लें ,वही डगर के प्रदेश अध्यक्ष देवी लाल मेघवंशी ने संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान समय में सभी को संगठित होकर समाज सेवा के लिए कार्य करना चाहिए.वह शिक्षा के स्तर को हमेशा सुधारना चाहिए,वही विशिष्ट अतिथि पूर्व फौजी उदय लाल खटीक ने संबोधित करते हुए कहा कि दलितों पर वर्तमान समय में पूरे देश में अत्याचार हो रहे हैं,हमें हथियार के बल पर नहीं विचारों के बल पर सदैव संघर्ष करते रहना चाहिए !

इस मौके पर पूर्व सरपंच नेमीचंद खटीक डगर के प्रदेशाध्यक्ष देवी लाल मेघवंशी ,पूर्व फौजी उदय लाल खटीक सत्यनारायण खटीक ,महावीर खटीक,प्यारे लाल रेगर करजालिया,कैलाश रेगर मोड़ का निंबाहेड़ा मोड़ का निंबाहेड़ा सरपंच शंकर लाल भील इरास सरपंच प्रतिनिधि कैलाश खटीक करजालिया के पूर्व सरपंच रूप लाल बेरवा सहित कहीं जनप्रतिनिधि एवं दलित समाज के युवा उपस्थित थे .

Leave A Reply

Your email address will not be published.