भारत की संसदीय प्रणाली में शून्यकाल का बहुत महत्व है .यह प्रश्नकाल और कार्यक्रम के मध्य का समय होता है .इसमें संसद सदस्य बिना किसी पूर्व सूचना के अपने मामले उठा सकते है .यह मुद्दे उठाने का अनौपचारिक साधन है .इसी तरह हमारा मानना है कि मीडिया जनता का शास्वत शून्यकाल है ,जहाँ वह हर वक़्त अपने मामले उठा सकते है .यह वेबसाईट भी आम जनता का शून्यकाल ही है .आम लोगों के लिए आम लोगों द्वारा बनाई हुई तथा आम जन द्वारा ही संचालित । हमारा विनम्र आग्रह है कि आइये और अपनी आवाज़ को बुलन्द करने के लिये इस मंच का जमकर इस्तेमाल कीजिये .

हमारे सदस्य

भंवर मेघवंशी

भंवर मेघवंशी

प्रधान संपादक
राकेश शर्मा

राकेश शर्मा

कार्यकारी संपादक
जननी श्रीधरन

जननी श्रीधरन

सह संपादक
ललित मेघवंशी

ललित मेघवंशी

तकनीकी संपादक

Developed By incroyablefuture.com