अनवर खान सहित राजस्थान की पांच हस्तियां पद्म श्री से सम्मानित

48


71 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारत सरकार ने वर्ष 2020 के लिए पदम् पुरस्कारों से सम्मानित होने वाली हस्तियों के नामों की घोषणा की गई थी. इस वर्ष राजस्थान की पांच हस्तियों को पद्म श्री से राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित किया गया । इनमें सामाजिक कार्यों में उत्कृष्ट सेवा करने के लिए हिम्मता राम भाम्बू, श्रीमती उषा चौमार और सुंदरम वर्मा को तथा 
कला क्षेत्र में सर्वोच्च कार्य करने के लिए उस्ताद अनवर खान मंगनियार और मुन्ना मास्टर को कला क्षेत्र में सर्वोच्च कार्य करने के लिए देश के चौथे सर्वोच्च राष्ट्रीय सम्मान से सम्मानित किया गया है .

हिम्मता राम भाम्बू को राजस्थान के रत्ना राम के नाम से जाना जाता है इन्होंने रेगिस्तान में लाखों की संख्या में पौधारोपण करके पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए अतुलनीय योगदान दिया है। 


श्रीमती उषा चौमार ने सुलभ इंटरनेशनल के सहयोग से राजस्थान में स्वच्छता की अलख जगाई। श्रीमती उषा 7 वर्ष से ही इस कार्य को लगातार कर रही है।

मुन्ना मास्टर राजस्थान के जयपुर (बगरू) के भजन गायकी के सरताज मुन्ना मास्टर कृष्ण और गाय पर भजन गायकी के लिए काफी प्रसिद्ध है इन्होंने राजस्थान सहित देश में अपने भजनों के माध्यम से सर्व धर्म समभाव तथा भाईचारे का पैगाम दिया है।

सुंदरम वर्मा राजस्थान के सुंदरम वर्मा ने शेखावाटी क्षेत्र में पर्यावरण संरक्षण तथा बायोडायवर्सिटी के संरक्षण के लिए ड्राई लैंड एग्रोफोरेस्टर तकनीकी का विकास कर सूखे प्रदेश को हरा-भरा करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। इस तकनीकी के सहयोग से एक पौधे को 1 लीटर पानी के माध्यम से हरा भरा बनाए रखने में सहयोग मिलता है।


उस्ताद अनवर खान मंगनियार राजस्थान की कला को देश-विदेश में पहुंचाने के लिए उस्ताद अनवर खान मंगनियार का सहयोग भी अतुलनीय है कला में अपने इसी योगदान के लिए श्री मंगनियार को भी पदम श्री से सम्मानित किया गया।


उल्लेखनीय है कि इस वर्ष सात हस्तियों को पदम विभूषण, 16 को पदम भूषण और 118 हस्तियों को पदम श्री से सम्मानित किया गया ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.