केंद्रिय आयुष मंत्रालय ने नवग्रह आश्रम को बनाया केंसर उपचार के लिए माॅडल !

14


– मूलचन्द पेसवानी ( भीलवाड़ा )
संपूर्ण देश को केंसर मुक्त बनाने का संकल्प लेकर पिछले लंबे समय से कार्य कर रहे भीलवाड़ा जिले के मोतीबोर का खेड़ा स्थित श्री नवग्रह आश्रम को रविवार को वैश्विक पटल पर दो बड़ी उपलब्धियां अर्जित हुई है। इन उपलब्धियों ने यह प्रमाणित किया है कि सनातन संस्कृति के आयुर्वेद व वानस्पितक चिकित्सा पद्वति पर पिछले छह वर्षो से श्री नवग्रह आश्रम को अब वैश्विक पटल पर स्वीकार किया गया है तथा यों भी कहा जा सकता है कि आखिरकार केंसर उपचार के लिए नवग्रह आश्रम की दी जा रही औषधियों व केंसर उन्मूलन के लिए किये जा रहे जागरूकता कार्यक्रम नवग्रह आश्रम माॅडल को अब वैश्विक पटल पर स्वीकार कर उस पर चलने की बात कही गयी है। भीलवाड़ा जिले के लिए यह उपलब्धि बहुत बड़ी है।

केंन्द्रिय आयुष मंत्रालय ने श्रीनवग्रह आश्रम माॅडल को देशभर में लागू करने के लिए 12 व 13 फरवरी को नईदिल्ली में अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान के तत्वावधान में आयोजित इंटीग्रेटेड कैंसर प्रोग्राम की नेशनल सेमीनार -जीव नियम- में बतौर मुख्य वक्ता के रूप में नवग्रह आश्रम संस्थापक हंसराज चोधरी को आमंित्रत किया है। श्री नवग्रह आश्रम सेवा संस्थान के सचिव जितेंद्र चोधरी ने बताया कि नईदिल्ली में अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान की ओर से सीजीओ काॅम्पलेक्स, प्रगति विहार में भारत सरकार के आयुष मंत्रालय एवं स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ इंटीग्रेटेड कैंसर प्रोग्राम के अंतर्गत कैंसर क्षेत्र में सफल चिकित्सकों एवं संस्थानों की 12 व 13 फरवरी को होने वाली नेशनल सेमीनार के समापन सत्र में नवग्रह आश्रम के संस्थापक हंसराज चोधरी को मुख्य वक्ता के रूप में आमंत्रित किया है तथा नवग्रह आश्रम माॅडल को वहां प्रस्तुत करने का निमंत्रण दिया है। इस नेशनल सेमीनार में केन्द्रिय आयुष मंत्री श्रीपद येसो नाइक, आयुष सचिव राजेश कोटेचा, अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान के निदेशक तनुजा नेसारी सहित देश भर के केंसर के विशेषज्ञ, केंसर चिकित्सा संस्थान शिरकत करेगें।

केंद्र सरकार के आयुष मंत्रालय ने अपने स्तर पर अध्ययन कराकर इस सेमीनार के लिए नवग्रह आश्रम माॅडल का चयन किया है जिसके तहत आश्रम की चिकित्सा पद्वति से केंसर उन्मूलन के आ रहे आशातीत परिणामों को बेहतर माना गया है। इसी कारण इस माॅडल का चयन नेशनल सेमीनार के लिए किया गया है। हंसराज चोधरी इस सेमीनार में श्री नवग्रह आश्रम के द्वारा केंसर उन्मूलन के लिए किये जा रहे आश्रम के कार्यो, यहां की चिकित्सा पद्वति, केंसर जागरूकता कार्यक्रम, केंसर सैनिक निर्माण योजना, औषधीय पौधों का सरंक्षण कर देश की सबसे बड़ी तैयार की गयी नवग्रह आश्रम हर्बल वाटिका, नवग्रह आश्रम आयुष विज्ञान मन्दिर के बारे में विस्तार से समापन मौके पर अपना माॅडल पेश करेगें तथा प्रस्तुति देगें।

आश्रम संस्थान के सचिव जितेंद्र कुमार के अनुसार आखिरकार सनातन चिकित्सा पद्वति के आधार पर केंसर उन्मूलन के लिए श्री नवग्रह आश्रम द्वारा अपनाये जा रहे नवग्रह आश्रम माॅडल को देश भर में केंद्र सरकार के आयुष मंत्रालय ने प्रमाणित मानकर सेमीनार के समापन सत्र में इसे स्वीकार आश्रम के माॅडल को देश का सर्वोपरी उपचार साधन माना है। इस सेमीनार में डा अनुराग श्रीवास्तव, डाश्रीपद बनावली, डा वन्जेरखेडकर, प्रो रवि मल्होत्रा, डा दिलीप घोष सहित देश के नामी केंसर विशेषज्ञ मौजूद रहेगें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.