जन साहित्य पर्व 2019 के पहले सत्र में होगी भारत के सौ साल के संघर्ष की विरासत पर चर्चा !

753

(13 नवम्बर 2019,जयपुर)
पिछले वर्ष की तरह ‘‘जन-साहित्य पर्व’’ का तीन दिवसीय आयोजन जनवादी लेखक संघ और जन संस्कृति मंच द्वारा देराश्री शिक्षक में 15 से 17 नवम्बर 2019 तक आयोजित किया जा रहा है।
इस बार का पर्व की थीम ‘जलियांवाला बाग की शहादत’ और ‘भारत के सौ साल’ रखी गई है, जिसमें जलियांवाला बाग की शहादत के बाद भारत की सौ साल की यात्रा पर चर्चा होगी जिसमें पिछले सौ बरसों के भारत के विकास का लेखा जोखा लेने की कोशिश की जाएगी, वहीं साहित्य, सियासत, सिनेमा, अर्थशास्त्र, विज्ञान, पत्रकारिता अलग अलग क्षेत्रों के बारे में सत्र रखे गए हैं। 
आयोजन के पहले दिन, 15 नवंबर को संघर्ष की विरासत उद्धघाटन सत्र रखा गया है, जिसमें भारत की सौ साल की संघर्षमय यात्रा पर देश के प्रख्यात समाजशास्त्री आनंद कुमार और पत्रकार शीबा असलम फ़हमी अपने विचार रखेंगी। आयोजन में आए सभी अतिथियों का स्वागत वरिष्ठ आलोचक डॉ जीवन सिंह अपने वकतव्य से करेंगे। 
आयोजन की विस्तारित रूपरेखा वरिष्ठ समाजशास्त्री प्रोफेसर राजीव गुप्ता प्रस्तुत करेंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.