अगर आपके पास भी दुर्लभ पुस्तकें हैं तो आप भी ऐसा कर सकते हैं !

69


हरिदेव जोशी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति ओम थानवी ने विश्वविद्यालय के पुस्तकालय को बेहतर बनाने के लिए एक अपील :-
हमारे विश्वविद्यालय के पुस्तकालय को दुर्लभ, अब दुबारा न छप रही किताबों की दरकार है। प्रतिष्ठित पत्रिकाओं की जिल्दों की भी। अगर वे आपके उपयोग नहीं आ रहीं, आप उन्हें सुरक्षित और अन्य के उपयोग के योग्य समझते हैं तो हमारे ख़र्च पर वह बेशक़ीमती सामग्री हमें उपलब्ध करवाने की कृपा करें। 
मैं जानता हूँ उम्रदराज़ लेखकों-पत्रकारों और प्रतिबद्ध पाठकों के पास काम की ऐसी बहुत पठनीय और उपयोगी सामग्री होगी। पत्रकारों की लिखी, या पत्रकारों और पत्रकारिता से संबंधित पुरानी किताबें हैं जो अमूमन अब फिर से नहीं पढ़ी जातीं। प्रतिष्ठित पत्रिकाओं के पुराने अंकों की जिल्दें।  विषयवार कतरनों का संग्रह। समाज, राजनीति, विदेश नीति, इतिहास, ग्रामीण-क़स्बाई और शहरी परिवेश, संस्कृति, पर्यावरण, सिनेमा, कला, छायाकारी, भाषा और साहित्य आदि की समझ बढ़ाने वाली किताबें, जर्नल, पेपर, डिजिटल सामग्री आदि। 
कितना अच्छा हो अगर आप शिक्षार्थी मीडियाकर्मियों और शोधार्थियों के उपयोग की ऐसी चीज़ें हमें – हरिदेव जोशी पत्रकारिता और जनसंचार विश्वविद्यालय को – भेंट कर सकें।  हम उन्हें आपके नाम से सहेज कर रखेंगे। ज़रूरत पड़ने पर आपको वापस भेजेंगे। 
आप जानते हैं, हरिदेव जोशी पत्रकारिता और जनसंचार विश्वविद्यालय राजस्थान विधानमंडल द्वारा पारित अधिनियम से स्थापित मीडिया शिक्षा, प्रशिक्षण और शोध/संधान का एक आकार लेता हुआ राष्ट्रीय संस्थान है। 
विश्वविद्यालय को विशाल भूखंड का आवंटन जयपुर विकास प्राधिकरण ने अजमेर रोड पर हुआ है। जल्द भवन के शिलान्यास की तैयारी है। नक़्शे पर काम चल रहा है। वास्तुकार, उचित ही, पुस्तकालय और अध्ययन कक्षों के लिए समुचित प्रावधान प्रस्तावित भवन में रख रहे हैं।  अस्थाई पुस्तकालय ख़ासा कोठी में संचालित होगा। 
पुस्तकालय के लिए इस संग्रह अभियान की शुरुआत मैं अपने निजी संग्रह से 1000 किताबों/सिनेमा/पत्रिकाओं/सम्पादकों आदि की डिजिटल रेकार्डिंग के गट्ठर के साथ करता हूँ। आप जानते हैं मीडिया, ख़ासकर जुझारू पत्रकारों और उपक्रमों, पर बनीं फ़िल्मों को मैंने बरसों के जुनून के चलते देश और परदेस में जमा किया है। चुनिंदा महान फ़िल्मों का प्रदर्शन भी जयपुर में जब-तब करते रहने का इरादा है। 
आशा है आप हमारे इस संग्रह को समृद्ध करने में अपना बहुमूल्य सहयोग प्रदान करेंगे। इस संबंध में हमारे सहायक प्रोफ़ेसर डॉ अनिल मिश्र (+91 91667 99700) से सम्पर्क किया जा सकता है। या ई-मेल के इस पते पर: hju.postal@gmail.com

ओम थानवी (कुलपति- हरिदेव जोशी पत्रकारिता विश्वविद्यालय )

फोटो क्रेडिट -ओम थानवी जी की फेसबुक वाल से साभार

Leave A Reply

Your email address will not be published.