आरक्षित सीटों पर चौधराहट की नयी पेशकश !

पूना पैक्ट की दुर्बल संताने !

318

(भंवर मेघवंशी) 

नागौर जिले की मेड़ता रिजर्व सीट से भाजपा और कांग्रेस ने नया प्रयोग किया है,इस नवाचार में भाजपा व कांग्रेस से जो प्रत्याशी बने है,वे पूना पैक्ट की सबसे कमजोर औलादों का जीवंत उदाहरण है ।

भाजपा ने अपने वर्तमान विधायक सुखराम नेतड़िया का टिकट काट कर रियाँ के पूर्व प्रधान भंवराराम रिठारिया को टिकट थमाया है,नेतड़िया डांगावास कांड पर कुछ नहीं बोला,उसे लगा कि खामोश रहूंगा तो टिकट फिर मिल जाएगी,पर ऐसा नहीं हुआ,आका तो नाराज थे ,घर बिठा दिया,वैसे अच्छा ही हुआ,दलित भी नाराज ही थे उससे पर विकल्प में जिस इंसान की खोज की गई,वह आश्चर्यचकित करने वाली है ।

कांग्रेस ने यहां तमाम अच्छे विकल्पों को नकारते हुए किसी सोनू चितारा को टिकट थमाई है,जो दलित भी है और चौधरी भी है। जन्मना अनुसूचित और विवाह के बाद चौधरी ।

रिजर्व सीटों पर चौधराहट की यह नई पेशकश है ,दलित युवतियों से शादी करके उनको सुरक्षित क्षेत्रों से चुनाव लड़वाने का नया ट्रेंड राजस्थान की राजनीति का नया शगल है ,अभी यह बढ़ेगा।

रिजर्व क्षेत्रों की पूरी राजनीति दूसरे लोगों के हाथ में है ,वो ही उम्मीदवार तय करते है,वो ही जीत हार तय करते है,वो ही ही बाद में सत्ता का लाभ भी लेते है,पूना पैक्ट की कमजोर औलादें उनके औजार मात्र हैं ।

भंवर मेघवंशी

(संस्थापक-दलित,आदिवासी,घुमन्तु अधिकार अभियान ‘डगर’)

(फोटो क्रेडिट-इन्टरनेट)

Leave A Reply

Your email address will not be published.